DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईरान ने 'टैंकर हमले' के संबंध में अमेरिका के आरोपों को सिरे से नकारा

gulf of oman   mikepompeo twitter 13 june 2019

ईरान के रक्षा मंत्री ने बुधवार को उन आरोपों को सिरे से खारिज किया कि ओमान की खाड़ी में दो टैंकरों पर हमले में ईरान का हाथ है। साथ ही कहा कि वॉशिंगटन ने जो साक्ष्य पेश किए हैं वह 'अप्रमाणित' हैं। आधिकारिक समाचार समिति इरना ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

दरअसल अमेरिका ने पिछले सप्ताह हुए हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है और कुछ तस्वीरें तथा वीडियो जारी किए हैं जिनमें कथित तौर पर ईरानी नागरिक को गश्ती नौका पर बैठे और अपने एक टैंकर से लिम्पेट माइन हटाते दिखाया गया है।

इरना ने रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर-जनरल आमिर हतामी के हवाले से कहा,''ईरान के सशस्त्र बलों के खिलाफ लगाए गए आरोप और पोतों के साथ हुई घटना के संबंध में जारी की गई फिल्म...अप्रमाणित हैं और हम उन आरोपों को सिरे से खारिज करते हैं।"

उन्होंने कहा, ''सशस्त्र बल और पत्तन संगठन घटना के बाद टैंकरों के पास राहत अभियान के लिए पहुंचने वाले पहले लोगों में से थे और उन्होंने पहले टैंकर से 23 लोगों को बचाया।" हतामी ने हालांकि यह स्पष्ट नहीं किया कि वह दो में से किस पोत की बात कर रहे हैं लेकिन ईरान के अंग्रेजी भाषा के समाचार पत्र 'प्रेस टीवी' ने फ्रंट अल्टायर से बचाए गए 23 लोगों के फुटेज प्रसारित किए थे। यह टैंकर नॉर्वे की एक कंपनी का है।

उन्होंने बताया कि इसके बाद ईरानी बल दूसरे टैंकर की ओर आगे बढ़े, लेकिन चालक दल ने घोषणा की कि एक अन्य पोत ने उन्हें पहले ही बचा लिया है। हतामी ने कहा,''इसका मतलब है कि अमेरिकी जल्द ही घटनास्थल पर पहुंच गए, जहां से उन्होंने वीडियो रिकॉर्ड करने का दावा किया है।" उनका स्पष्ट इशारा जापान के स्वामित्व वाले कोकुका करेजियस की ओर था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Iran categorically rejects US tanker attack allegations