DA Image
4 जून, 2020|10:27|IST

अगली स्टोरी

इंडोनेशिया प्लेन क्रैश: दो मिनट के भीतर ही खराबी के संकेत मिलने लगे थे

(Antara Foto/Hadi Sutrisno via Reuters Photo)

सोमवार को दुर्घटनाग्रस्त होकर समुद्र में गिरे नए इंडोनेशियाई लायन एयर के विमान में तकनीकी गड़बड़ी थी। फ्लाइटरडार24 का डाटा दिखाता है कि विमान के उड़ान भरने के करीब दो मिनट के भीतर ही उसमें खराबी के संकेत मिलने लगे थे।

विमान में खराबी के संकेत मिलने पर वह दो हजार फीट पर पहुंच गया था। विमान पांच हजार फीट चढ़ने से पहले 500 फीट से ज्यादा लुढ़का था और 5,450 फीट पर पहुंचने से पहले ही फिर से लुढ़क गया। विमान ने अंतिम क्षणों में गति हासिल कर ली और संबंध टूटने से पहले वह 345 नॉट्स की गति हासिल कर चुका था। जब विमान का संपर्क टूटा तो वह 3,650 फीट पर था। दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले इसकी कुल उड़ान 13 मिनट की थी। 

रविवार को भी आई थी खराबी

विमानन कंपनी के सीईओ एडवर्ड सिरैट ने कहा कि रविवार को ही विमान में कुछ तकनीकी खराबी आई थी।  देनपसार (बाली) में उसकी मरम्मत की गई और फिर यह जकार्ता के लिए उड़ा। उन्होंने कहा, सोमवार को जकार्ता में अभियंताओं को नोट मिला और उन्होंने उसके उड़ने से पहले एक बार फिर उसकी मरम्मत की। यह किसी भी विमान के लिए सामान्य प्रक्रिया है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि उसमें क्या गड़बड़ी थी। सुरक्षा विशेषज्ञों के हवाले से एक खबर में बताया गया कि जांचकर्ताओं की प्राथमिकता कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर और फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर खोजने की होगी ताकि दुर्घटना के कारणों का पता चल सके।

पायलटों ने लौटने की अनुमति मांगी थी

इंडोनेशिया एयर नेविगेशन के अधिकारी सिंदु रहायु ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि विमान के उड़ान भरने के बाद पायलटों ने जकार्ता लौटने की अनुमति मांगी, लेकिन इजाजत मिलने के ठीक बाद एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) का फ्लाइट से संपर्क टूट गया। उन्होंने कहा, मौसम भी साफ था, घटना से पहले सब कुछ सही था।  लायन एयर ने एक बयान में कहा है कि विमान के पायलट और सह पायलट हरविनो काफी अनुभवी थे। 
 
बचाव कार्य शुरू 

कारावांग के समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त विमान के लिए खोज एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। कारावांग के समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हुए लायन एयर जेटी610 विमान के कई टुकड़े बरामद किए गए हैं।

तैरते मिले सामान

राहत कार्य में जुटे अधिकारियों के मुताबिक दुर्घटनास्थल के पास से मलबे और पानी में तैरते निजी सामान जैसे हैंडबेग, कपड़े, मोबाइल फोन, आईडी कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस के फुटेज जारी किए। मलबों में विमान की सीट भी दिखाई दी।
 
आपात केंद्र खोले

लायन एयर ने पीड़ितों के परिजनों की मदद के लिए जकार्ता के हवाईअड्डे और हालिम पेराडानाकुसुमा हवाईअड्डे पर आपात केंद्र खोले हैं।

भारतीय दूतावास ने दुख जताया

जकार्ता स्थित भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया, जकार्ता के समुद्रतट के पास विमान दुर्घटना में मारे गए लोगों के साथ हमारी गहरी संवेदना है। सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि जेटी 610 विमान को लेकर उड़ान भर रहे भारतीय पायलट भव्य सुनेजा की भी जान चली गई। दूतावास क्राइसिस सेंटर के साथ संपर्क में है और हरसंभव सहायता के लिए तालमेल कर रहा है।
 
दिल्ली पोस्टिंग चाहते थे सुनेजा

मीडिया रिपोर्टों में एयरलाइंस कंपनी के एक अधिकारी के हवाले से बताया गया कि सुनेजा दिल्ली लौटना चाहते थे। अधिकारी ने बताया, हमने इस बारे में जुलाई में बात की थी। वह एक मृदुभाषी इंसान थे। वह केवल दिल्ली में अपनी पोस्टिंग चाहते थे क्योंकि यह उनका घर था। मैंने उन्हें बताया कि एक साल तक हमारे साथ काम करने के बाद उन्हें दिल्ली पोस्टिंग देने पर विचार किया जाएगा।

वित्त मंत्रालय के 20 कर्मी भी थे सवार

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इंडोनेशिया के वित्त मंत्रालय के 20 कर्मचारी भी विमान पर सवार थे। इंडोनेशिया के वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता नुफरांसा विरा सक्ति ने कहा कि ये सभी कर्मचारी पंगकाल पिनांग में नौकरी कर रहे थे और जकार्ता में छुट्टी मनाने गए थे। 

चमत्कार की उम्मीद में प्रार्थना

इंडोनेशिया की आपदा राहत एजेंसी ने कुछ तस्वीरें जारी की हैं। इनमें विमान के धड़ का कुछ हिस्सा, टूटे स्मार्टफोन, किताबें, बैग नजर आ रहे हैं। पांगकाल एयरपोर्ट पर परिजनों का इंतजार कर रहे लोग एक दूसरे को सांत्वना देने और प्रार्थना करने में जुट गए। 
नेशनल सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के यह प्रमुख नुग्रोहो बुडी विरयांतो का कहना है कि 300 से ज्यादा लोगों को तलाशी के अभियान में लगाया गया है। अब तक आईडी कार्ड, सामान और विमान के बिखरे हिस्से ही उनके हाथ आए हैं। विरयांतो से जब हादसे में किसी के बचने की उम्मीद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, हम ईश्वर के किसी चमत्कार के इंतजार में हैं।  

भारत का LoC पार पाक सेना के एडमिन HQ पर हमला, आतंकी कैंप भी किए ध्वस्त

अयोध्या विवाद:संघ व VHP ने कहा-फैसले का अनंतकाल तक इंतजार नहीं कर सकते

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Indonesia Plane Crash Within two minutes there were signs of malfunction in engine