DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक के रहते बातचीत संभव नहीं, अमेरिका में भारत के राजदूत का पाक को पैगाम

india and pakistan flag  photo  hindustan times

अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने कहा कि पाकिस्तान ने अगर आतंकवाद का साथ देने की नीति नहीं छोड़ी तो भारत उसके साथ बातचीत नहीं कर सकता है। श्रृंगला का बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनाव 2019 में भारी बहुमत से मिली जीत के बाद आया है। पुलवामा हमले के बाद राष्ट्रवाद आम चुनावों में बड़ा मुद्दा था।

श्रृंगला ने कहा कि दक्षिण एशियाई पड़ोसियों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के लिए शांति वार्ता की जिम्मेदारी अब पाकिस्तान के कंधों पर है। राजदूत ने कहा कि जब तक कोई देश आतंकवाद को राष्ट्रीय नीति के तौर इस्तेमाल करता रहेगा और भारत उस नीति से प्रभावित होता रहेगा, तक तब किसी भी (भारत) सरकार को ऐसे देश से बातचीत करने का जनादेश नहीं मिलेगा।

भारत-पाक संबंधों के भविष्य पर किए गए सवाल के जवाब में श्रृंगला ने कहा कि पाकिस्तान जिस दिन अपने मतलब के लिए आतंकवाद का इस्तेमाल करना बंद कर देगा, मुझे लगता है उस दिन सरकार अपने जनादेश के भीतर रहते हुए अपने पश्चिमी पड़ोसी के साथ बेहतर संबंधों की शुरुआत करेगा। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हर भारतीय की इच्छा पाकिस्तान के साथ बेहतर संबंध रखने की है। आप बांग्लादेश, नेपाल, भूटाना, श्रीलंका, मालदीव, अफगानिस्तान के साथ हमारे संबंधों को देखें। हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian envoy Harsh Vardhan Shringla rules out talks with Pakistan unless it stops supporting terror