DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत यूएन मानवाधिकार परिषद का सदस्य बना, मिले सबसे ज्यादा वोट

This is the fifth time India is elected to the Geneva-based Council, the main body of the UN charged

भारत को शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) मानवाधिकार परिषद का तीन साल के लिए सदस्य चुन लिया गया है। भारत के कार्यकाल की शुरुआत 1 जनवरी 2019 से शुरू होगी। 

भारत एशिया-प्रशांत क्षेत्र श्रेणी में था। 18 नए सदस्यों में भारत को सबसे ज्यादा 188 वोट मिले। संयुक्त राष्ट्र की 193 सदस्यीय महासभा में मानवाधिकार परिषद के नए सदस्यों को चुना गया। 18 नए सदस्यों को गुप्त मतदान द्वारा पूर्ण बहुमत के आधार पर चुना गया। परिषद में चुने जाने के लिए किसी भी देश को कम से कम 97 वोटों की जरूरत होती है। 

भारत एशिया प्रशांत श्रेणी में सीट के लिए इच्छुक था। एशिया-प्रशांत क्षेत्र से मानवाधिकार परिषद में कुल पांच सीटें हैं जिनके लिए भारत के अलावा बहरीन, बांग्लादेश, फिजी और फिलीपीन ने अपना नामांकन भरा था। चुनाव से पहले संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने ट्वीट किया, बहरीन, बांग्लादेश, फिजी, भारत और फिलीपीन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में एशिया-प्रशांत क्षेत्र की पांच सीटों के लिए दावा पेश किया।
 
पहले भी सदस्य रह चुका है

भारत पहले भी 2007, 2014 और 2017 में मानवाधिकार परिषद का सदस्य रह चुका है। भारत का अंतिम कार्यकाल 31 दिसंबर, 2017 में समाप्त हुआ। नियमानुसार भारत तत्काल मानवाधिकार परिषद का सदस्य चुने जाने के लिए पात्र नहीं है क्योंकि वह दो बार सदस्य रह चुका है।

तितली चक्रवातः ओडिशा में बारिश-बाढ़ का कहर, 60 लाख लोग प्रभावित

अमेरिका में बड़ी मुश्किल में फंसे भारतीय, जानें क्या है मामला

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India wins seat at UN Human Rights Council for 3 years with highest votes