India Pakistan must resolve differences through dialogue Imran Khan - कश्मीर पर भारत और पाक को बात करनी चाहिए : पाक पीएम इमरान खान DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कश्मीर पर भारत और पाक को बात करनी चाहिए : पाक पीएम इमरान खान

Pakistani men gather around a bank of televisions in a store as they watch a broadcast of a speech o

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान को कश्मीर समेत सभी समस्याओं के सामाधान के लिए बातचीत अवश्य करनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने सेना प्रमुख से गले मिलने पर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का बचाव भी किया है।

इमरान खान ने ट्वीट कर कहा कि इस उपमहाद्वीप में गरीबी दूर करने और लोगों के उत्थान का सबसे अच्छा तरीका बातचीत के माध्यम से विवादों का समाधान और व्यापार शुरू करना है। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इमरान खान को पत्र लिखकर बधाई दी थी। मोदी ने अपनी चिट्ठी में लिखा था कि भारत अपने पड़ोसी पाकिस्तान के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता है। 

इमरान खान ने नवजोत सिद्धू को कहा धन्यवाद, बोले- वे शांति दूत बन कर आए थे

सिद्धू को निशाना बनाने वाले लोग शांति विरोधी  
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि जो लोग सिद्धू को निशाना बना रहे हैं वह शांति विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि बिना शांति के लोग तरक्की नहीं कर सकते। इमरान ने ट्वीट कर कहा कि मेरे शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान आने पर मैं सिद्धू को धन्यवाद देना चाहता हूं। वह शांति के राजदूत हैं और पाकिस्तान की जनता ने उन्हें प्यार और स्नेह दिया। 

शपथ ग्रहण में पाक सेना प्रमुख को गले लगाने पर विवाद
गौरतलब है कि सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेकर विवादों में घिरे हुए हैं। पाकिस्तान जाने के उनके फैसले और वहां उनके सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने पर उनकी विपक्ष और यहां तक उनकी अपनी पार्टी कांग्रेस ने आलोचना की एवं नाखुशी प्रकट की। साथ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी सिद्धू की आलोचना की थी। 

नवजोत सिद्धू बोले- पाकिस्तान आर्मी चीफ को गले लगाना था एक 'भावुक पल'-VIDEO

भावुक होकर जनरल बाजवा को गले लगाया : सिद्धू
पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को अपनी पाकिस्तान यात्रा पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक नहीं एक दोस्त की ओर से महज गर्मजोशी भरा आमंत्रण था। सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल बाजवा ने मुझे बताया कि वे भारत के डेरा बाबा नानक करतारपुर साहिब के गुरुद्वारे के लिए रास्ता खोलने का प्रयास कर रहे हैं ताकि गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश दिवस पर श्रद्धालु उसके दर्शन कर सकें। उन्होंन कहा कि इसके बाद जो हुआ वह भावुक क्षण था। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि करोड़ों श्रद्धालु पवित्र करतारपुर साहिब के दर्शन करने का इंतजार कर रहे हैं, जहां गुरु नानक देव जी ने अपने जीवन के करीब 18 वर्ष बिताए थे।

बातचीत से मतभेद दूर हों
इस बीच, सिद्धू ने यह भी कहा कि भारत और पाकिस्तान अगर बातचीत के जरिए अपने मतभेद दूर कर लें, अच्छे दोस्त बन जाएं और व्यापार एवं अन्य क्षेत्रों में आपसी अदान-प्रदान को बढ़ावा दें, तो दक्षिण एशिया के लिए यह एक बड़ी उम्मीद और संदेश होगा।  सिद्धू ने कहा कि वह एक दोस्त हैं, जो दोनों देशों के बीच सौहार्दपूर्ण रिश्ते कायम करने के लिए काम कर सकते हैं। वह, जो दोनों देशों के बीच लंबे समय से जारी तनाव में राहत लाने में एक भूमिका निभा सकता हैं। 

पाक पीएम बनते ही इमरान ने खर्चों में की कटौती, मंत्रियों की बैठक में सिर्फ चाय

मंत्रिमंडल की बैठक में सिर्फ चाय दी गई
पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान ने खर्चों में कटौती और सादगी का उदाहरण खुद पेश करने के बाद अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों को भी इसके अनुपालन के लिए प्रेरित करना शुरू किया है। मंत्रिमंडल की पहली औपचारिक बैठक में मंत्रियों को केवल चाय दी गई। यहां तक बिस्किट या अन्य किसी प्रकार का नाश्ता भी नहीं दिया गया। खान ने मंत्रियों को शपथ लेने और कार्यभार संभालने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा है कि वह स्वयं रोजाना 16 घंटे काम करेंगे और मंत्रिमंडल के सदस्य भी रोजाना 14 घंटे कार्य करें। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल की सप्ताह में एक बार या इससे अधिक बैठकें होंगी जबकि वास्तविकता यह है कि वह रोजाना बैठक करने के इच्छुक हैं। उन्होंने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों से कहा कि वह अवकाश की अनुमति नहीं देंगे और ईद-उल-जुहा की छुट्टी की घोषणा नहीं कर रहे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India Pakistan must resolve differences through dialogue Imran Khan