ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशभारत को हमसे बेहतर कोई नहीं जानता, जस्टिन ट्रूडो के सुर में सुर मिला रहा पाकिस्तान

भारत को हमसे बेहतर कोई नहीं जानता, जस्टिन ट्रूडो के सुर में सुर मिला रहा पाकिस्तान

India-Pakistan: काजी कनाडा के दावों का समर्थन करते नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा कि उनके पास 'विश्वसनीय सबूत' है, तो यह 'तथ्यों' पर आधारित होगी।

भारत को हमसे बेहतर कोई नहीं जानता, जस्टिन ट्रूडो के सुर में सुर मिला रहा पाकिस्तान
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,इस्लामाबादThu, 21 Sep 2023 10:19 AM
ऐप पर पढ़ें

खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप निज्जर की मौत के मामले में भारत और कनाडा के बीच जारी तनाव में अब पाकिस्तान की भी एंट्री हो गई है। पश्चिमी देशों की तरफ से भारत के खिलाफ जांच को मिले समर्थन का पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिकों ने स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत पर लग रहे आरोपों पर उन्हें कोई हैरानी नहीं है।

पाकिस्तान अखबार द डॉन के मुताबिक, विदेश सचिव सायरस काजी ने कहा, 'हमें कनाडा के आरोपों को लेकर कोई हैरानी नहीं है।' उन्होंने कहा, 'हम उपने पूर्वी पड़ोसी के रवैये और काम करने के तरीके को जानते हैं।' इधर, इस्लामाबाद में प्रवक्ता मुमताज जहरा बलोच ने भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा, 'यह गैर जिम्मेदाराना काम है, जो एक अंतरराष्ट्रीय साझेदार के तौर पर भारत की विश्वसनीयता और उसकी बढ़ी हुई वैश्विक जिम्मेदारी के दावों पर सवाल उठाता है।'

उन्होंने कहा कि दशकों से भारतीय खुफिया एजेंसियां दक्षिण एशिया में अपहरण और हत्याओं में शामिल रही है। उन्होंने आरोप लगाए हैं कि RAW की तरफ से कराई जा रही जासूसी और हत्याओं का पाकिस्तान निशाना बना हुआ है।

भारत-कनाडा विवाद में कूदा
काजी कनाडा के दावों का समर्थन करते नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा कि उनके पास 'विश्वसनीय सबूत' है, तो यह 'तथ्यों' पर आधारित होगी। उन्होंने कुलभूषण जाधव का जिक्र किया और कहा कि भारत, पाकिस्तान में विध्वंसक गतिविधियों में शामिल है।

उन्होंने कहा, '(भारत के साथ) हमारे अनुभवन के आधार पर हम कह सकते हैं कि हमें हैरानी नहीं है।' उन्होंने कहा, 'अगर कोई देश पाकिस्तान को समझता है, तो हम हैं...। हम उनके साथ 70 सालों से ज्यादा समय से निपट रहे हैं।' विदेश मंत्री जलील अब्बास जीलानी ने दावा किया है कि भारत के साथ पाकिस्तान हमेशा शांतिपूर्ण रिश्ते चाहता है। उन्होंने कहा, 'लेकिन शांति के प्रयासों का जवाब नकारात्मकता से मिला।'

उन्होंने आरोप लगाए हैं कि कश्मीरियों के मानवाधिकार उल्लंघन ने रिश्ते खराब किए हैं।