ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशरूसी सैनिक ने कॉमरेड से कहा- मुझे सिर में गोली मार दो... साथी कॉमरेड ने किया ऐसा काम; वीडियो हुआ वायरल

रूसी सैनिक ने कॉमरेड से कहा- मुझे सिर में गोली मार दो... साथी कॉमरेड ने किया ऐसा काम; वीडियो हुआ वायरल

युक्रेन में जारी संघर्ष में रुसी सैनिकों का एक वीडियो सामने आया है। एक ड्रोन हमले में एक रूसी सैनिक घायल हो जाता है, वह अपने साथी से कहता है कि मुझे गोली मार दो, साथी उसे गोली मार कर आगे बढ़ जाता है।

रूसी सैनिक ने कॉमरेड से कहा- मुझे सिर में गोली मार दो... साथी कॉमरेड ने किया ऐसा काम; वीडियो हुआ वायरल
russian soldiers
Upendraलाइव हिंदुस्तान,यूक्रेन,रूसSun, 23 Jun 2024 04:24 PM
ऐप पर पढ़ें

यूक्रेन-रूस संघर्ष को रोकने के लिए दुनिया प्रयास कर रही है लेकिन यह संघर्ष लगातार आगे ही खिंचता जा रहा है। अब इस युद्ध से जुड़ा एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में तीन रूसी सैनिक एक मैदान से होकर जा रहे होते हैं। अचानक से एक छोटा सा ड्रोन उड़ता हुआ आया और बीच वाले सैनिक पर हमला कर देता है। सैनिक से टकराकर ड्रोन फट जाता है। इस हमले में रूसी सैनिक गंभीर रूप से जख्मी हो जाता है और वहीं गिर पड़ता है। अपने आप को गंभीर हालत में देख सैनिक अपने साथी सैनिक से इशारे में कहता है कि उसके सिर में गोली मार दे।
युक्रेन रूस के सैनिकों पर ऐसे ही छोटे-छोटे ड्रोन्स से हमला कर रहा है। यूक्रेन ऐसे हमलों को एफपीवी अटैक कहता है। सैनिकों, गाड़ियों और टैंकों पर इस तरह के हमले किए जाते हैं।

 पीछे चल रहा साथी उसके पास आता है और अपनी असॉल्ट रायफल से घायल रूसी सैनिक की कनपटी पर प्वाइंट ब्लैंक रेंज से एक गोली मार देता है। गोली मारने के बाद वह सैनिक आगे कि तरफ बढ़ जाता है। दरअसल सैनिक को समझ आ जाता है कि अगर वह जिंदा रहा तो दुश्मन के हाथों पकड़ा जाएगा और फिर उसे टॉर्चर किया जाएगा और अगर उसके साथी सैनिक उसे उठाकर ले जाने लगे तो उनकी जान को भी खतरा है। ऐसे मौकों पर सैनिक ऐसे ही कदम उठाते हैं।

दोनों देशों की जिद में लाखों ने गंवाई जान
एक अनुमान के मुताबिक रूस-यूक्रेन के इस संघर्ष में रूस के करीब 5 लाख से ज्यादा सैनिक मारे जा चुके हैं। युक्रेन भी करीब 70 हजार से ज्यादा अपने सैनिक गंवा चुका है। इस युद्ध में रूसी सेना को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। युक्रेन को लगातार पश्चिमी देश समर्थन दे रहे हैं। पैसा और हथियार हर तरीके से मदद कर रहे हैं। दोनों ही देशों को इस युद्ध में काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।