DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इमरान खान की बहन पर कस सकता है कानूनी शिकंजा, UAE में है बेनामी संपत्ति

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की बहन सहित 44 प्रमुख राजनीतिज्ञ और सरकारी अधिकारी संयुक्त अरब अमीरात (यूएर्इ) में बेनामी संपत्ति के मालिक हैं। इसका खुलासा उच्चतम न्यायालय में पाकिस्तानी फेडरल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एफआईए) द्वारा पेश सूची में हुआ। डॉन अखबार की खबर के मुताबिक पाकिस्तान से विदेशों में अवैध तरीके से धन के अंतरण से संबंधित मामले की सुनवाई कर रहे पाकिस्तानी उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश मियां साकिब निसार की अगुवाई वाली तीन सदस्यीय पीठ के समक्ष यह सूची पेश की गयी है। 

खबर में बताया गया कि एफआईए ने उच्चतम न्यायालय के समक्ष 44 व्यक्तियों की सूची प्रस्तुत की। इसमें उन लोगों के नाम है जिनकी दूसरे के नाम पर संपत्ति है। इस सूची में इमरान की बहन अलीमा खानम का नाम है जिनकी पहचान एक संपत्ति के 'बेनामीदार के तौर पर की गयी है। उनके नाम पर एक नोटिस र्इमेल के साथ घर के पते पर भेजा गया, लेकिल उनके नौकर ने बताया कि वह विदेश में है। 

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार इस सूची में आर्थिक एवं उर्जा मामलों के सरकारी प्रवक्ता फारूख सलीम की मां का नाम भी शामिल है। खबर में बताया गया कि जांच में पता चला कि सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता मुमताज अहमद मुस्लिम 16 संपत्तियों के मालिक हैं और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के मंत्री रहे अमीन फहीम की विधवा रिजवाना अमीन के पास संयुक्त अरब अमीरात के रियल इस्टेट मार्केट में चार संपत्तियां हैं। 

इस सूची में पूर्व सीनेटर अनवर बेग की पत्नी आयशा अनवर बेग और राजनीतिज्ञ इरफानुल्लाह खान मारवात का भी नाम है। यूएई में पीपीपी के राजनीतिज्ञ मखदूम अमीन फहीम की चार संपत्तियां, पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के व्यक्तिगत सचिव तारिक अजीज की बेटी ताहिरा मंजूर की छह संपत्तियां हैं। इसके अलावा गायक अदनान सामी की मां नौरीन सामी की तीन संपत्तियां है। 

कांग्रेस ने भोपाल में बनाया 'भ्रष्टाचार का स्मारक' : संबित पात्रा

12 साल की लड़की कभी नहीं गई स्कूल, अब देगी 10वीं बोर्ड परीक्षा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Imran Khans sister Anonymous property in UAE Pakistan SC issued notice