ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशचुनाव चिह्न जाने का था खतरा, इमरान खान ने उठा लिया ये बड़ा कदम; किसे सौंपेंगे पार्टी की कमान

चुनाव चिह्न जाने का था खतरा, इमरान खान ने उठा लिया ये बड़ा कदम; किसे सौंपेंगे पार्टी की कमान

इमरान खान अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे और उन्होंने पीटीआई का नेतृत्व करने के लिए बैरिस्टर गौहर खान को नामित किया है। चुनाव आयोग ने उनकी पार्टी में चुनाव कराने का निर्देश भी दिया था।

चुनाव चिह्न जाने का था खतरा, इमरान खान ने उठा लिया ये बड़ा कदम; किसे सौंपेंगे पार्टी की कमान
Himanshu Tiwariएजेंसियां,इस्लामाबादWed, 29 Nov 2023 09:51 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बड़ा कदम उठाते हुए अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) की कमान किसी और को सौंपने का फैसला किया है। इमरान खान अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे और उन्होंने पीटीआई का नेतृत्व करने के लिए बैरिस्टर गौहर खान को नामित किया है। डॉन अखबार की एक खबर के मुताबिक, बैरिस्टर अली जफर ने घोषणा की कि मौजूदा अध्यक्ष इमरान खान दो दिसंबर को होने वाला चुनाव नहीं लड़ेंगे और बैरिस्टर गौहर खान को पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामित किया गया है।

इमरान खान ने किसे सौंपी कमान
इससे पहले इमरान के पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गई थी। पार्टी के अंदर उस समय भ्रम की स्थिति पैदा हो गई जब उसने अपने ही एक वरिष्ठ नेता के बयान को खारिज कर दिया। पार्टी के वरिष्ठ नेता शेर अफजल मारवात ने दावा किया था कि जेल में बंद इमरान पार्टी के आंतरिक चुनावों में अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। गौहर खान ने कहा, "इमरान खान पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष थे, हैं और रहेंगे... मैं उनके लौटने तक अपनी जिम्मेदारी निभाऊंगा।"

चुनाव आयोग ने दिया था अल्टीमेटम
उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में आठ फरवरी को आम चुनाव होने हैं। पाकिस्तानी निर्वाचन आयोग के अनुसार अगर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) अपना चुनाव चिह्न 'बल्ला' बरकरार रखना चाहती है तो उसे 20 दिन की समय सीमा के अंदर पार्टी के अंदर चुनाव कराना होगा। जियो न्यूज की एक खबर के अनुसार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शेर अफजल मारवात ने मंगलवार को कहा कि बैरिस्टर गौहर खान पीटीआई के अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार होंगे। उससे पहले इमरान ने कानूनी बाधाओं के कारण अध्यक्ष पद पर नहीं रहने का कथित तौर पर फैसला किया।
      
बता दें इमरान खान अभी रावलपिंडी की अडियाला जेल में बंद हैं। मारवात की घोषणा के बावजूद, पीटीआई ने दावा किया था कि इमरान खान के अपने पद से हटने की कोई योजना नहीं है। लेकिन, खैबर पख्तूनख्वा में पार्टी का नया चेहरा मारवात पार्टी के इनकार के बाद भी अपनी बात पर कायम रहे।
    

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें