ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशअब 'बल्ला' छिन जाने का डर, परेशान इमरान खान की पार्टी पहुंची हाई कोर्ट; क्या है माजरा

अब 'बल्ला' छिन जाने का डर, परेशान इमरान खान की पार्टी पहुंची हाई कोर्ट; क्या है माजरा

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने इमरान खान की पार्टी को निर्देश दिया है कि चुनाव चिह्न 'बल्ले' पर कब्जा बरकरार रखने के लिए पार्टी में 20 दिन में आंतरिक चुनाव कराए जाएं।

अब 'बल्ला' छिन जाने का डर, परेशान इमरान खान की पार्टी पहुंची हाई कोर्ट; क्या है माजरा
Himanshu Tiwariएजेंसियां,कराचीSat, 25 Nov 2023 10:41 PM
ऐप पर पढ़ें

जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी ने पाकिस्तानी चुनाव आयोग के आदेश के खिलाफ सिंध हाई कोर्ट का रुख किया है। चुनाव आयोग ने इमरान खान की पार्टी को निर्देश दिया है कि चुनाव चिह्न 'बल्ले' पर कब्जा बरकरार रखने के लिए पार्टी में 20 दिन में आंतरिक चुनाव कराए जाएं। इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को निर्देश देते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि यदि पार्टी तय समय में चुनाव नहीं करा पाती है, तो उसे अपने चुनाव चिह्न 'बल्ले' से हाथ धोना पड़ सकता है। चुनाव आयोग के इस फैसले से इमरान खान की पार्टी परेशान है, पीटीआई ने अब इसके खिलाफ अदालत का रुख किया है।

पार्टी ने न्यायिक अधिकारियों की जिला चुनाव अधिकारियों के रूप में नियुक्ति कर न्यायिक निगरानी के तहत स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने का निर्देश दिए जाने की भी मांग की। बता दें  पाकिस्तान में आठ फरवरी को आम चुनाव होना है। 'डॉन' अखबार ने शनिवार को खबर दी कि पीटीआई के सिंध प्रांत के प्रमुख हलीम आदिल शेख और सेवानिवृत्त न्यायाधीश नूर-उल-हक एन. कुरैशी ने शुक्रवार को अपने वकील के जरिए याचिका दायर की जिसमें कैबिनेट सचिव, मुख्य सचिव और पाकिस्तान के चुनाव आयोग को पक्षकार बनाया गया है। याचिका दायर करने से एक दिन पहले ही गुरुवार को चुनाव आयोग ने पूर्व क्रिकेटर की पीटीआई को निर्देश दिया था कि वह पार्टी के चुनाव चिह्न के तौर पर 'बल्ले' पर कब्जा बरकरार रखने के लिए 20 दिन के अंदर आंतरिक चुनाव कराएं। चुनाव आयोग ने यह भी कहा था कि पार्टी ने अपने संविधान के मुताबिक पारदर्शी चुनाव नहीं कराए हैं।

चुनाव आयोग ने अगले सात दिनों के भीतर एक व्यापक रिपोर्ट भी मांगी है। याचिकाकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि पीटीआई को चुनाव लड़ने से रोकने की कोशिश के तहत प्रतिवादियों ने आपस में सांठगांठ की है और दावा किया कि पार्टी ने कई चुनौतियों का सामना किया है जिनमें पार्टी के नेतृत्व के खिलाफ मामले दर्ज किए जाने और बोलने की आज़ादी पर प्रतिबंध शामिल है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इस बात की गंभीर आशंका है कि ये सब इसलिए किया जा रहा है ताकि पीटीआई का चुनाव चिह्न प्रतिवादियों के 'पसंदीदा' अन्य दल को दिया जा सके। खान पाकिस्तान के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं और उन्हें 'बल्ले' (क्रिकेट) का पर्यायवाची माना जाता है। वह फिलहाल रावलपिंडी की अडियाला जेल में बंद हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें