ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशयौन शोषण के दोषी की माफ की सजा, लोगों का फूटा गुस्सा; इस देश की राष्ट्रपति को देना पड़ा इस्तीफा

यौन शोषण के दोषी की माफ की सजा, लोगों का फूटा गुस्सा; इस देश की राष्ट्रपति को देना पड़ा इस्तीफा

दोषी की सजा माफ करने के नोवाक के इस फैसले का खुलासा होने के बाद देशभर में इसकी व्यापक पैमाने पर आलोचना हुई। नोवाक ने इस निर्णय का खुलासा होने के बाद राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दिया।

यौन शोषण के दोषी की माफ की सजा, लोगों का फूटा गुस्सा; इस देश की राष्ट्रपति को देना पड़ा इस्तीफा
Niteesh Kumarएजेंसी,बुडापेस्टSun, 11 Feb 2024 10:38 AM
ऐप पर पढ़ें

हंगरी की राष्ट्रपति कैटालिन नोवाक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बाल यौन उत्पीड़न मामले में दोषी की सजा माफ करने को लेकर उनकी काफी आलोचना हो रही थी। 46 वर्षीय नोवाक ने टेलीविजन पर प्रसारित संदेश में कहा कि वह राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देंगी। वह 2022 से इस पद की जिम्मेदारी संभाल रही थीं। नोवाक ने एक सरकारी बाल आश्रय में बाल यौन उत्पीड़न मामले से जुड़े सबूतों को छुपाने के दोषी की सजा अप्रैल 2023 में माफ कर दी थी। दोषी व्यक्ति पीड़ितों पर आश्रय स्थल के निदेशक पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप वापस लेने का दबाव बना रहा था। इस मामले में सबूत छुपाने की कोशिश करने के अपराध में दोषी को 3 से अधिक वर्ष कारावास की सजा सुनाई गई थी।

दोषी की सजा माफ करने के नोवाक के इस फैसले का खुलासा होने के बाद देशभर में इसकी व्यापक पैमाने पर आलोचना हुई। नोवाक ने इस निर्णय का खुलासा होने के एक सप्ताह बाद राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दिया। नोवाक ने दोषी की सजा माफ करने के फैसले को लेकर माफी मांगी। उन्होंने शनिवार को कहा, 'मैंने गलती की। मैं उन लोगों से माफी मांगती हूं जिन्हें मैंने ठेस पहुंचाई है और मैं उन पीड़ितों से भी क्षमा मांगती हूं जिन्हें लगा होगा कि मैं उनके लिए खड़ी नहीं हो रही हूं।' नोवाक ने कहा कि मैं राष्ट्र प्रमुख के रूप में आपको आज आखिरी बार संबोधित कर रही हूं। मैं देश के राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देती हूं।

हंगरी की पहली महिला राष्ट्रपति थीं नोवाक
मालूम हो कि नोवाक हंगरी की पहली महिला और सबसे युवा राष्ट्रपति थीं। वहीं, अजरबैजान में राष्ट्रपति पद के लिए संपन्न चुनाव में इल्हाम अलीयेव ने जीत दर्ज की है। उन्हें 92.12 प्रतिशत वोट हासिल हुए। केंद्रीय चुनाव आयोग (CEC) ने शुक्रवार को शत-प्रतिशत मतपत्रों की गणना प्रक्रिया के बाद यह जानकारी दी। सीईसी ने अपने बयान में कहा कि शत-प्रतिशत वोटों की गिनती पूरी कर ली गई है। इल्हाम अलीयेव को 92.12 फीसदी वोट मिले हैं और इस तरह वह भारी मतों के साथ विजेता बने हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें