ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशबंधकों के बदले किसे मांग रहा हमास, इजरायल को चुकानी न पड़ जाए इसकी कीमत; भारत भी कर चुका है गलती

बंधकों के बदले किसे मांग रहा हमास, इजरायल को चुकानी न पड़ जाए इसकी कीमत; भारत भी कर चुका है गलती

इजरायल-हमास युद्ध में युद्ध विराम शुक्रवार सुबह सात बजे शुरू होगा। हमास ने 50 इजरायली बंधकों को बदले 150 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा करने की डिमांड रखी है।

बंधकों के बदले किसे मांग रहा हमास, इजरायल को चुकानी न पड़ जाए इसकी कीमत; भारत भी कर चुका है गलती
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,गाजाFri, 24 Nov 2023 12:50 AM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल और हमास के बीच गाजा में चार दिन के युद्ध विराम को लेकर तैयारी चल रही है। युद्ध विराम के तहत दोनों पक्षों ने खास डिमांड रखी है। रिपोर्ट्स की मानें तो बंधकों को रिहा करने के बदले में इजरायल की जेलों में बंद फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया जाएगा। हमास ने 50 इजरायली बंधकों के बदले 150 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा करने की डिमांड रखी है। अगर इजरायल ऐसा करता है तो उसे बड़ी कीमत न चुकानी पड़ जाए। भारत ने भी एयर इंडिया के विमान IC- 814 के हाईजैक के बाद यात्रियों के बदले जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर को छोड़ा था। जिसका अंजाम आतंकी हमले को तौर भारत ने झेला। 

हमास ने भी आतंकवादी के रूप में पहचानी जाने वाली फिलिस्तीनी असरा जाबास की डिमांड की है। ऐसी अटकलें हैं कि इजरायल बंधकों और कैदियों की अदला-बदली के तहत उसे रिहा कर सकता है। जाबास 2015 में वेस्ट बैंक में एक धमाके में शामिल थी। रिपोर्ट्स बताते हैं कि जाबास ने एक सुसाइड बॉम्बर बनने के ध्येय से इस धमाके को अंजाम दिया। एक चेकपॉइंट पर जब उसकी कार को रोका गया तो उसने गैस टैंक के जरिए इसे उड़ा दिया। इस आतंकी हमले में एक पुलिसकर्मी घायल हुआ। घटना के बाद जाबास को 11 साल की जेल की सजा सुनाई गई। बावजूद इसके जाबास दो मौकों पर प्लास्टिक सर्जरी के लिए धन जुटाने में कामयाब रही।

कब शुरू होगा युद्ध विराम
बता दें कतर ने गुरुवार को कहा कि इजरायल-हमास युद्ध में युद्ध विराम शुक्रवार सुबह सात बजे शुरू होगा और इसके लागू होते ही जल्द से जल्द मानवीय सहायता पहुंचाने का काम शुरू किया जाएगा। कतर के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माजिद अल-अंसारी ने राजधानी दोहा में आयोजित में एक संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की। इजरायल और हमास के बीच समझौता होने के बाद युद्ध विराम के लागू होने की संभावना जताई गई थी, हालांकि अंतिम दिन भी इसे लेकर बातचीत जारी है। अल-अंसारी ने कहा कि हमास द्वारा बंधक बनाए गए नागरिकों के पहले जत्थे को शाम चार बजे के आसपास पहुंचाया जाएगा, जिसमें 13 महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।

युद्धविराम से थमेगी जंग
युद्ध विराम के लिए समझौते से युद्ध थमने की उम्मीदें पैदा हुई हैं जो सात सप्ताह से चल रहा है। युद्ध से इजरायल और गाजा दोनों में भारी तबाही हुई है और बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं। इस युद्ध से पूरे पश्चिम एशिया में तनाव फैलने की आशंका है। उत्तर इजरायल में गुरुवार को सायरन बजने लगे जहां हिजबुल्ला ने कहा कि उसने दक्षिण लेबनान से 48 कत्यूषा रॉकेट दागे हैं। इससे पहले इजरायल के एक हमले में पांच हिजबुल्ला लड़ाके मारे गये थे जिनमें समूह के संसदीय ब्लॉक के प्रमुख का बेटा शामिल था। इजरायल की सेना ने कहा कि वह हमले के स्रोतों पर ही निशाना साध रही है।  

क्या है नेतन्याहू की प्लानिंग     
इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने युद्ध पर अपने विशेष मंत्रिमंडल के दो मंत्रियों के साथ संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि युद्ध विराम की समयसीमा समाप्त होने के बाद युद्ध फिर प्रारंभ होगा। उन्होंने कहा कि इजरायल का लक्ष्य हमास के सभी सैन्य प्रतिष्ठानों को नष्ट करना और गाजा में बंधक बनाए गए उसके सभी 240 लोगों को रिहा कराना है। नेतन्याहू ने कहा, ''मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि युद्ध जारी है। सभी लक्ष्य हासिल होने तक हमारे प्रयास जारी रहेंगे।'' नेतन्याहू ने कहा कि उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को फोन करके यही जानकारी दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने देश की खुफिया एजेंसी 'मोसाद' को हमास के निर्वासित नेतृत्व का सफाया करने का निर्देश दिया है ''फिर वे चाहे कहीं भी हों।''

अमेरिका ने युद्ध शुरू होने के बाद से इजरायल को भारी सैन्य तथा कूटनीतिक मदद मुहैया कराई है। युद्धविराम के प्रभावी होने के साथ ही दोनों पक्ष जहां हैं वहीं थम जाएंगे। इजरायली सेना ने उत्तरी गाजा के अधिकतर हिस्से पर कब्जा कर लिया है और उनका कहना है कि उन्होंने सुरंगों और हमास के अधिकांश बुनियादी ढांचे को नष्ट कर दिया है। इजरायली सेना ने गाजा के सबसे बड़े अस्पताल शिफा के नीचे हमास का सैन्य केंद्र होने के अपने दावे को साबित करने के लिए विदेशी पत्रकारों के एक समूह को एक भूमिगत ठिकाने की तरह प्रतीत होने वाले बंकर दिखाए।
     

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें