ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशगाजा में खाने की लाइन पर लगे थे फिलिस्तीनी, इजरायली सेना ने बरसा दी गोलियां; 104 की मौत

गाजा में खाने की लाइन पर लगे थे फिलिस्तीनी, इजरायली सेना ने बरसा दी गोलियां; 104 की मौत

गाजा शहर में खाने के लिए लोग लाइन पर लगे थे, वे सहायता ट्रकों का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान इजरायली सेना ने उन पर गोलीबारी कर दी। इस हमले में 104 लोगों की मौत हो गई।

गाजा में खाने की लाइन पर लगे थे फिलिस्तीनी, इजरायली सेना ने बरसा दी गोलियां; 104 की मौत
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,गाजाThu, 29 Feb 2024 08:23 PM
ऐप पर पढ़ें

गाजा में इजरायली सेना की क्रूरता थमने का नाम नहीं ले रही है। हमास आतंकियों द्वारा संचालित स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, गाजा शहर में मरने वालों की संख्या 30 हजार से ज्यादा हो गई है। अधिकारियों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि इजरायली सेना की गाजा के निर्दोष लोगों पर हैवानियत कम होने का नाम नहीं ले रही है। ताजा घटनाक्रम में शहर में खाने के लिए लोग लाइन पर लगे थे, वे सहायता ट्रकों का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान इजरायली सेना ने उन पर गोलीबारी कर दी। इस हमले में 104 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक घायल हो गए। 

उधर, गाजा में फिलिस्तीनियों पर ताजा हमले के बारे में इसराइली सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि उस स्थान पर गोलाबारी की कोई जानकारी नहीं है। सेना ने बाद में कहा कि उत्तरी गाजा में सहायता ट्रक पहुंचने पर धक्का-मुक्की और कुचलने के परिणामस्वरूप दर्जनों लोग घायल हो गए थे। हालांकि एक इजरायली सूत्र ने कहा कि सैनिकों ने भीड़ में "उन लोगों" पर गोलियां चलाईं जो उनके लिए खतरा थे।

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति बोले- इजरायल का नरसंहार
फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के कार्यालय ने कहा कि उन्होंने "आज सुबह नबुलसी चौराहे पर सहायता ट्रकों का इंतजार कर रहे लोगों के खिलाफ इजरायली सेना द्वारा किए गए भयानक हमले की जानकारी मिली। हम इस नरसंहार की निंदा करते हैं"।

गाजा स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ अल-किद्रा ने कहा कि यह घटना एन्क्लेव के उत्तरी भाग में गाजा शहर के पश्चिम में अल-नबुसी चौराहे पर हुई। क़िद्रा ने कहा कि मेडिकल टीमें अल-शिफ़ा अस्पताल पहुंचे दर्जनों घायल लोगों की चोटों की मात्रा और गंभीरता से निपटने में असमर्थ थीं। गाजा शहर में कमल अदवान अस्पताल के प्रमुख हुसाम अबू सफियाह ने कहा कि उन्हें शहर के पश्चिम में हुई घटना से 10 शव और दर्जनों घायल मरीज मिले हैं।

हमले के बाद हमास ने इजरायल को धमकाया
हमास ने हमले के बाद एक बयान में इजरायल को चेतावनी दी कि इस घटना के कारण संघर्ष विराम और बंधकों की रिहाई पर समझौते के उद्देश्य से वार्ता विफल हो सकती है। इसमें कहा गया, "आंदोलन के नेतृत्व द्वारा की गई बातचीत हमारे लोगों के खून की कीमत पर एक खुली प्रक्रिया नहीं है।" गुरुवार की मौतों का जिक्र करते हुए और कहा कि वार्ता की किसी भी विफलता के लिए इजरायल जिम्मेदार होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें