DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेश सचिव विजय गोखले ने चीन के सामने उठाया मसूद अजहर पर प्रतिबंध का मुद्दा

Masood Azhar (L), chief of the Jaish-e-Mohammad (JeM), addressing a press conference in Karachi.

भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने सोमवार को चीन के विदेश मंत्री वांग यी से अपनी मुलाकात के दौरान संयुक्त राष्ट्र द्वारा जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध का मुद्दा उठाया और इस बात पर जोर दिया कि दोनों देशों को एक-दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशील होना चाहिए।

यह पूछे जाने पर कि गोखले की मौजूदा चीन यात्रा के दौरान क्या अजहर पर प्रतिबंध का मुद्दा उठाया गया, इस पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत ने जैश-ए-मोहम्मद और इसके मुखिया अजहर की आतंकी गतिविधियों के सारे साक्ष्य चीन से साझा किए हैं।

कुमार ने कहा, ''अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने पर अब संयुक्त राष्ट्र की 1267 प्रतिबंध समिति और अन्य अधिकृत निकायों को निर्णय करना है। भारत सभी उपलब्ध उपायों के प्रयास करता रहेगा, ताकि सुनिश्चित हो सके कि हमारे नागरिकों पर जघन्य हमलों में शामिल आतंकी सरगनाओं को इंसाफ के कठघरे में खड़ा किया जा सके।"

अधिकारियों ने बताया कि वांग के अलावा गोखले ने चीन के कई अन्य नेताओं से भी मुलाकात की। यह पूछे जाने पर कि क्या गोखले ने अपनी मुलाकातों के दौरान अजहर का मुद्दा उठाया, इस पर एक सूत्र ने कहा, ''मुद्दे पर चर्चा की गई।"

गोखले ने सोमवार को वांग के साथ वार्ता की और वुहान में हुई शिखर वार्ता के बाद द्विपक्षीय संबंधों में हुई प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने जोर देकर कहा कि दोनों देशों को एक-दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशील होना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Foreign Minister Vijay Gokhale raises issue of Masood Azhar listing with China