DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावधान ! फेसबुक आपके ऑडियो मैसेज को सुन रहा

facebook  symbolic image

सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक यूजर्स के ऑडियो मैसेज को सुनने को लेकर विवादों में है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फेसबुक इसके लिए यूजर्स के मैसेंजर का इस्तेमाल कर रहा है। 


रिपोर्ट के मुताबिक, सोशल मीडिया दिग्गज ने कैलिफोर्निया स्थित कंपनी में अनाम बातचीतों के ऑडियो भेजे, जहां के कर्मचारी इसे सुनेंगे और फिर इसे लिखेंगे। हालांकि, फेसबुक ने कहा है कि उसने ऑडियो रिकॉर्डिंग को ट्रांसक्रिप्ट करना बंद कर दिया है। कंपनी ने कहा कि गूगल और एप्पल की तरह हमने एक सप्ताह पहले ही इंसानों द्वारा ऑडियो की समीक्षा को रोक दिया था। रिपोर्ट में बताया गया है कि फेसबुक ने यूजर्स के ऑडियो को सुनने और उसकी नकल कर लिखने के लिए सैकड़ों कांट्रैक्टरों को काम पर रखा। कांट्रैक्टरों को इस बात की जानकारी नहीं दी गई कि ऑडियो कैसे रिकॉर्ड और प्राप्त की गई।  

विज्ञापन के लिए कवायद
फेसबुक ने लंबे समय से चले आ रहे उन अफवाहों का खंडन किया है, जिसमें कहा गया था कि वह विज्ञापन के मद्देनजर यूजरों के निजी बातचीत को सुन रहा था। पिछले साल अमेरिकी संसद कांग्रेस के समक्ष कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने इसे कांस्पिरेसी थ्योरी बताया था। उन्होंने कहा था कि आप उस कांस्पिरेसी थ्योरी के बारे में बात कर रहे हैं, जिसमें यह कहा जा रहा है कि हम आपके माइक्रोफोन पर क्या चल रहा है, उसे सुनते हैं और विज्ञापनों के लिए इसका उपयोग करते हैं। हम वैसा नहीं करते हैं।

वॉयस चैट वाले यूजर जद में 
इस बार फेसबुक ने इसकी पुष्टि की लेकिन कहा कि यह सिर्फ उन यूजरों के साथ हो रहा है जिन्होंने वॉयस चैट को लिखने का विकल्प चुना है। रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक ने यूजरों को कभी इसका सूचना नहीं दी कि थर्ड पार्टी उनके ऑडियो की समीक्षा कर सकते हैं। कंपनी की गोपनियता नीति यह कहती है कि इसके सिस्टम स्वचालित रूप से आपके और अन्य लोगों के लिए सामग्री और संचार को संसाधित करते हैं लेकिन इसमें ऑडियो या इंसानों द्वारा उसकी नकल कर लिखने का उल्लेख नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:facebook employees are listening the audio messages of users