ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशअमेरिका में पुल हादसे के महीनों बाद भी क्यों फंसे 20 भारतीय? जहाज से नीचे आने की भी इजाजत नहीं

अमेरिका में पुल हादसे के महीनों बाद भी क्यों फंसे 20 भारतीय? जहाज से नीचे आने की भी इजाजत नहीं

हादसे में छह लोगों की मौत हुई है। इस पोत पर सवार चालक दल के सदस्यों में 20 भारतीय और एक श्रीलंकाई नागरिक है। दुर्घटना के बाद से ही चालक दल उसी पोत पर है और जांच में सहयोग कर रहा है।

अमेरिका में पुल हादसे के महीनों बाद भी क्यों फंसे 20 भारतीय? जहाज से नीचे आने की भी इजाजत नहीं
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,बाल्टीमोरWed, 15 May 2024 08:34 PM
ऐप पर पढ़ें

अमेरिका में इसी साल मार्च में हुए पुल हादसे के बाद अभी भी जहाज के चालक दल वहीं फंसे हुए हैं। दरअसल बाल्टीमोर में पताप्सको नदी पर बना 2.6 किलोमीटर लंबा ‘फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज’ उस समय ढह गया था जब श्रीलंका जा रहा सिंगापुर के झंडे वाला 984 फुट लंबा मालवाहक जहाज 26 मार्च को पुल के एक खंभे से टकरा गया। इस भीषण हादसे में छह लोगों की मौत हुई है। इस पोत पर सवार चालक दल के सदस्यों में 20 भारतीय और एक श्रीलंकाई नागरिक है। दुर्घटना के बाद से ही चालक दल उसी पोत पर है और जांच में सहयोग कर रहा है।

अमेरिका का संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) इस घटना की जांच कर रहा है। इस बीच सोमवार को, कर्मचारियों ने जहाज को मुक्त कराने के प्रयास में पुल के एक हिस्से को ध्वस्त कर दिया है। अधिकारियों को उम्मीद है कि इससे चालक दल को मीलों दूर अपने परिवारों के साथ फिर से पहुंचने में मदद मिलेगी। ये लोग जहाज पर ही रुके हैं क्योंकि जहाज अभी भी पुल के मलबे के चलते फंसा है।

वीजा प्रतिबंधों और एनटीएसबी और एफबीआई की जांच के कारण चालक दल जहाज से उतरने में असमर्थ है। डाली के मालिक ग्रेस ओसियन प्राइवेट लिमिटेड के प्रवक्ता जिम लॉरेंस ने हाल ही में बताया था कि भारतीय चालक दल के सदस्य जहाज पर हैं और अच्छी स्थिति में हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, चालक दल को बिना डेटा वाला बिना सिम कार्ड और अस्थायी सेल फोन दिए गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, उन्हें विभिन्न सामुदायिक समूहों से देखभाल पैकेज भी मिले हैं जिनमें भारतीय नाश्ता और भोजन भी शामिल है।

भारतीय चालक दल के सदस्यों के मोबाइल एफबीआई जांच के तहत जब्त किए

अमेरिका के बाल्टीमोर में हुई पुल दुर्घटना की जांच के तहत संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) ने एक क्षतिग्रस्त मालवाहक पोत पर सवार चालक दल के मोबाइल फोन जब्त कर लिए हैं।  गैर सरकारी संगठन ‘बाल्टीमोर इंटरनेशनल सीफर्स सेंटर’ के कार्यकारी निदेशक रेव जोशुआ मेसिक ने ‘पीटीआई’ को बताया कि वह सभी संबंधित संगठनों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि चालक दल के पास जरूरत की सभी वस्तुएं हों और उनके अधिकारों को बरकरार रखा जाए। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी अच्छी तरह से देखभाल की जा रही है। एफबीआई की जांच के तहत केवल उनके मोबाल फोन जब्त कर लिए गए हैं और उन्हें लौटाया नहीं गया है।’’ अमेरिकी प्राधिकारियों ने बाल्टीमोर पुल ढहने की घटना की आपराधिक जांच पिछले महीने शुरू की थी। इस घटना में निर्माण दल के उन छह कर्मचारियों की मौत हो गई थी जो हादसे के समय पुल पर गड्ढों की मरम्मत कर रहे थे।