ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशथम गई जंग तो कौन फिर से करेगा गाजा को आबाद? यह इस्लामिक देश उठाएगा बीड़ा; हमास का भी है हमदर्द

थम गई जंग तो कौन फिर से करेगा गाजा को आबाद? यह इस्लामिक देश उठाएगा बीड़ा; हमास का भी है हमदर्द

इस्लामिक देश तुर्किये ने वादा किया है कि अगर हमास और इजरायल बीच जारी जंग थमती हैं तो वह गाजा को फिर से बसाएगा। तुर्किये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने दुनिया के सामने यह बात कही है।

थम गई जंग तो कौन फिर से करेगा गाजा को आबाद? यह इस्लामिक देश उठाएगा बीड़ा; हमास का भी है हमदर्द
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,अंकाराSat, 18 Nov 2023 10:49 PM
ऐप पर पढ़ें

बीते एक महीने से जारी हमास-इजरायल के बीच जंग कब खत्म होगी, इस बारे में कहना मुश्किल हैं। मगर इस्लामिक देश तुर्किये ने वादा किया है कि यदि दोनों पक्षों के बीच जंग थमती है, तो वह फिर से गाजा को बसाएगा। तुर्किये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने कहा कि अगर युद्धविराम हो जाता है तो तुर्किये गाजा में क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे, अस्पतालों और स्कूलों का पुनर्निर्माण करेगा। बर्लिन की यात्रा से लौटने के बाद उन्होंने जर्मन नेताओं के साथ बातचीत की। उन्होंने कहा, "यदि युद्धविराम होता है, तो हम इजरायल द्वारा किए गए 'विनाश' की भरपाई के लिए जो भी आवश्यक होगा वह करेंगे।"

तुर्किये ने उठाया बीड़ा

तुर्किये के राष्ट्रपति ने कहा, "हम गाजा में क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे के पुनर्निर्माण और नष्ट हुए स्कूलों, अस्पतालों, पानी और ऊर्जा सुविधाओं के पुनर्निर्माण के प्रयास करेंगे।" इससे पहले, तुर्किये के राष्ट्रपति ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को यह ऐलान करने के लिए कहा था कि इजरायल बताए कि उसके पास परमाणु हथियार हैं या नहीं।

एर्दोगन यह भी कहा कि हमास द्वारा बंधक बनाए गए इजरायलियों के परिवारों ने उन्हें एक पत्र भेजकर अनुरोध किया था कि वह उनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हस्तक्षेप करें। समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि इस मुद्दे की जांच के लिए तुर्किये की खुफिया एजेंसी सक्रिय हो गई है।

हमास का हमदर्द है तुर्किये

तुर्किये के राष्ट्रपति ने पहले भी कहा था कि हमास एक आतंकवादी संगठन नहीं है, यह एक मुक्ति समूह है, एक 'मुजाहिदीन' जो अपनी भूमि और लोगों की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ रहा है। हमास के खिलाफ इजरायल की जवाबी कार्रवाई का समर्थन करने के लिए पश्चिम की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा था, "इजरायल के लिए बहाए गए पश्चिमी देशों के आंसू इंसानियत के साथ धोखाधड़ी हैं।" इस बीच, तुर्की के विदेश मंत्री हाकन फिदान ने कहा कि इजरायल ने गाजा में अपने युद्ध में मानवता के खिलाफ अपराध किया है।

फिदान ने कहा, "स्कूलों, अस्पतालों और मस्जिदों में भी बच्चों, मरीजों और बुजुर्गों सहित हमारे फिलिस्तीनी भाइयों को निशाना बनाना मानवता के खिलाफ अपराध है।" उनका यह बयान तब आया जब इजरायल अपने नागरिकों को छुड़ाने के लिए हमास से जंग लड़ रहा है। 7 अक्टूबर को किए गए हमास के हमले में 1400 इजरायली नागरिक मारे गए थे, इसके अलावा हमास ने सैकड़ों लोगों को बंधक भी बना लिया है। जवाबी कार्रवाई में इजरायल हमास के कब्जे वाले गाजा शहर पर हमलों को जारी रखा है। इजरायल द्वारा किए हमलों में 12 हजार से ज्यादा फिलिस्तीनी नागरिक मारे गए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें