DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट पर छोड़े अपने दर्जनों कुत्ते? पेंटागन बोला- ये हमारे डॉग्स नहीं
विदेश

अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट पर छोड़े अपने दर्जनों कुत्ते? पेंटागन बोला- ये हमारे डॉग्स नहीं

हिन्दुस्तान टीम,वाशिंगटनPublished By: Shankar Pandit
Wed, 01 Sep 2021 08:34 AM
अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट पर छोड़े अपने दर्जनों कुत्ते? पेंटागन बोला- ये हमारे डॉग्स नहीं

अफगानिस्तान से बोरिया-बिस्तर समेटने वाले अमेरिका की अब काबुल एयरपोर्ट पर छोड़े गए कुत्तों की वजह से आलोचना हो रही है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अमेरिका काबुल एयरपोर्ट पर अपने दर्जनों कुत्तों को छोड़कर अफगान से निकल गया है। मगर पेंटागन ने इन रिपोर्टों को खारिज किया है। कुत्तों के छोड़े जाने की खबर को 'गलत' बताते हुए पेंटागन ने कहा कि अमेरिकी सेना ने हवाई अड्डे पर अपने किसी भी कुत्ते को नहीं छोड़ा है। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने ट्वीट किया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरें और वीडियो अमेरिकी सेना के नहीं हैं।

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक हेलीकॉप्टर के सामने पिंजरों के अंदर कुत्तों की एक तस्वीर वायरल हो रही है। इन तस्वीरों को देखने के बाद सोशल मीडिया पर अमेरिका की आलोचना हो रही है। सोशल मीडिया पर यह भी तुलना की जा रही है कि एक ओर भारत है, जिसने अपने कुत्तों को वहां से रेस्क्यू किया, और दूसरी ओर अमेरिका को मतलबी बताया जा रहा है। मगर इन आलोचनाओं के बीच पेंटागन ने दावा किया कि वे कुत्ते अमेरिकी सेना के नहीं थे। किर्बी ने कहा कि ये कुत्ते काबुल स्मॉल एनिमल रेस्क्यू की कस्टडी में हैं।

किर्बी ने ट्वीट किया, 'गलत रिपोर्ट को ठीक करने के लिए यह बताना जरूरी है कि अमेरिकी सेना ने हामिद करज़ई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पिंजरों में किसी भी कुत्ते को नहीं छोड़ा है। ऑनलाइन प्रसारित होने वाली तस्वीरें काबुल स्मॉल एनिमल रेस्क्यू की देखरेख में जानवरों की थीं, न कि हमारी देखरेख में रहने वाले कुत्तों की।'

बता दें कि काबुल स्मॉल एनिमल रेस्क्यू एक पशु अधिकार संगठन है, जो पिछले एक साल से अफगानिस्तान में सक्रिय है। इसने शुरू में कुछ जानवरों को निकालने की योजना बनाई थी, लेकिन हवाई अड्डे पर अपने पिंजरों को छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। क्योंकि कुत्तों को सैन्य विमानों पर जाने की अनुमति नहीं थी और निजी चार्टर विमानों को काबुल में जाने की अनुमति नहीं थी।

एसपीसीए इंटरनेशनल के कार्यक्रम निदेशक लोरी कालेफ ने कहा कि हम इस बात से दुखी हैं कि अफगानिस्तान से काबुल स्मॉल एनिमल रेस्क्यू के बचाए गए कुत्तों को ले जाने के लिए हमने जो विमान सिक्योर किया, उसे अंततः जानवरों और उनके देखभाल करने वालों को सुरक्षित रूप से देश से बाहर ले जाने की अनुमति नहीं दी गई। 

संबंधित खबरें