DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम मोदी से बात कर बोले ट्रंप- कश्मीर में एक कठिन स्थिति, लेकिन अच्छी बातचीत!

 donald trump

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर मसले को 'कठिन परिस्थिति' मानते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से इस मुद्दे पर बात की है तथा दोनों नेताओं को तनाव कम करने की सलाह दी है। 

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा,“मैंने अपने दो अच्छे मित्रों पीएम मोदी और पीएम खान से व्यापार, रणनीतिक साझेदारी और सबसे महत्वपूर्ण कश्मीर मसले को लेकर उत्पन्न तनाव को कम करने को लेकर बातचीत की। दोनों नेताओं से कठिन परिस्थिति लेकिन अच्छी बातचीत हुई है।  
 

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख का गठन करने के भारत सरकार के फैसले से पाकिस्तान खासा नाराज है तथा दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है। भारत के निर्णय का रूस समेत कई देशों ने समर्थन किया है जबकि खान ने ट्रंप से इस मामले में मध्यस्थता करने की अपील की है।

पीएम मोदी ने ट्रंप से की थी बात

पीएम मोदी ने ट्रंप से बातचीत में कहा कि क्षेत्र के कुछ नेताओं द्वारा दिए जा रहे भारत विरोधी उग्र और हिंसा भड़काने वाले बयान का जिक्र किया और कहा कि यह शांति के लिए अनुकूल नहीं है। जाहिर है कि यह पाकिस्तानी नेतृत्व के संदर्भ में है जो कश्मीर मसले को लेकर भारत के विरोध में जहर उगल रहे हैं।  कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त कर वहां विकास करने के भारत के प्रयासों का संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा समर्थन किए जाने के कुछ ही दिनों बाद मोदी ने सोमवार को ट्रंप से 30 मिनट फोन पर बातचीत की। 

इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मसलों पर बातचीत हुई। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि फोन पर बातचीत दोनों नेताओं के बीच गर्मजोशी और सौहार्दपूर्ण संबंध दशार्ती है 

प्रधानमंत्री ने जापान के ओसाका में इसी साल जून के आखिर में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान हुई मुलाकात को याद किया।  ओसाका में हुई द्विपक्षीय वातार् का हवाला देते हुए उन्होंने उम्मीद जाहिर कि कि भारत के वाणिज्य मंत्री और अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि शीघ्र मिलकर परस्पर हितों को लेकर द्विपक्षीय व्यापार संभावनाओं पर विचार-विमर्श करेंगे। 

क्षेत्रीय हालात के संदर्भ में मोदी ने ट्रंप को बताया कि क्षेत्र के कुछ नेताओं द्वारा दिए जा रहे भारत विरोधी उग्र और हिंसा भड़काऊ बयान शांति के लिए ठीक नहीं है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार ट्विटर के माध्यम से मोदी पर हमले कर रहे हैं और उनको फासीवादी नस्लवादी बता रहे हैं। 

इमरान खान मोदी पर भारत को हिंदू वर्चस्व वाले देश में बदलने का आरोप लगा रहे हैं और भारत में मुस्लिमों को मताधिकार से वंचित करने व आरएसएस के गुंडों के उपद्रव मचाने की बात कर रहे हैं। विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, मोदी ने टेलीफोन पर बातचीत के दौरान आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण का निमार्ण करने और सीमापार आतंकवाद पर लगाम लगाने के महत्व पर प्रकाश डाला। 

मोदी ने निर्धनता, निरक्षरता और बीमारी से लड़ने की दिशा में इस मार्ग का अनुसरण करने वाले हर किसी के साथ सहयोग करने की भारत की प्रतिबद्धता दोहराई। बयान के अनुसार, अफगानिस्ता की स्वतंत्रता के सोमवार को 100 साल पूरे होने के अवसर पर उन्होंने संयुक्त, सुरक्षित, लोकतांत्रिक और सही मायने में आजाद अफगानिस्तान के लिए भारत की लंबी और दृढ़निश्चय प्रतिबद्धता दोहराई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Donald Trump says Spoke to my two good friends Prime Minister Modi and Prime Minister Khan A tough situation in Kashmir but good conversations