DA Image
3 जून, 2020|1:02|IST

अगली स्टोरी

डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन देने के लिए इंडिया को धन्यवाद कहा, बोले- नरेन्द्र मोदी ने मानवता की मदद की

pm modi and us president donald trump   file pic

1 / 2PM Modi and US President Donald Trump (File pic)

us president donald trump  file pic

2 / 2US President Donald Trump (File Pic)

PreviousNext

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की तरफ से कोरोना के इलाज में कारगर माने जा रहे मेलेरिया की दवाई हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दिए जाने के बाद कहा कि वह इसे कभी नहीं भुला पाएंगे। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पर फैसले के लिए भारत और भारत के लोगों का धन्यवाद करते हैं। उन्होंने कहा कि चुनौतीपूर्ण समय में दोस्तों के बीच करीबी सहयोग की जरूरत होती है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया करते हुए कहा कि आपके मजबूत नेतृत्व से न सिर्फ भारत को बल्कि इससे चुनौती से लड़ रही मानवता को मदद मिलेगी। 

न्यूयार्क में कोरोना से एक दिन में 779 लोगों की मौत

मेरिका के न्यूर्याक में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण एक दिन में 779 लोगों की मौत हो गयी । एक दिन में मौत का यह सर्वाधिक आंकडा है। न्यूयार्क के गवर्नर एंड्र्यू कुओमो ने इसकी जानकारी दी।  कुओमो ने आगाह किया है कि मरने वालों की संख्या लगातार बढ सकती है। 

कोरोना वायरस पर नियमित ब्रीफिंग में उन्होंने बुधवार को कहा, दुखद समाचार केवल दुखद ही नहीं है। दुखद समाचार असल में भयानक है। मरने वालों की संख्या एक दिन में अब तक सबसे अधिक है। यह संख्या 779 तक पहुंच गयी है। आप मरने वालों की संख्या देखेंगे तो यह धीरे धीरे बढ रही है और यह नयी उंचाई तक पहुंच गयी है। मंगलवार को न्यूयार्क में कोरोना वायरस से 731 लोगों की मौत हो गयी थी जो उस दिन तक सर्वाधिक थी। कुओमो ने कहा कि 9/11 के आतंकवादी हमले में 2753 लोग मारे गये थे जबकि कोरोना वायरस के कारण न्यूयार्क में 6268 लोगों की मौत हो चुकी है।

ट्रंप ने कहा था, भारत दवा सप्लाई करता है तो ठीक, नहीं तो जवाबी कार्रवाई करेंगे

इससे पहले, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया को संबोधित कर कहा कि अगर भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा सप्लाई करता है तो ठीक, वरना हम जवाबी कार्रवाई करेंगे। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा मलेरिया के लिए होता है, जिसका भारत प्रमुख निर्यातक रहा है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इस संबंध में मैंने रविवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और उन्होंने हमारी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा के सप्लाई को अनुमति दे दी है, जिसकी हम सराहना करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि तो वह एंटी मलेरिया दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई नहीं भी4 करते हैं तो कोई बात नहीं। मगर हम इस पर जवाबी कार्रवाई करेंगे। आखिर हम इसका जवाब क्यों नहीं देंगे।

भारत ने क्या दिया था जवाब

दरअसल, कोरोना संकट से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा के ऑर्डर की आपूर्ति करने के आग्रह पर भारत ने कहा था कि एक जिम्मेदार देश होने के नाते हमसे जितना हो सकेगा, हम मदद करेंगे। भारत ने अमेरिका को स्पष्ट तौर पर बताया कि हम अपने 1.30 अरब आबादी को कोरोना वायरस महामारी से सुरक्षित करने के बाद ही कोरोना वायरस के मरीजों और स्वास्थ्यकर्मियों के रोगनिरोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन की आपूर्ति करेंगे। 

दरअसल, विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने 25 मार्च को इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी थी। हालांकि, डीजीएफटी ने कहा था कि मानवता के आधार पर मामले-दर-मामले में इसके कुछ निर्यात की अनुमति दी जा सकती है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Donald Trump calls India Thanks for giving hydrochloroquine to America says Narendra Modi helped humanity