Deadly monsoon destroys 5000 shelters in Bangladesh Rohingya camps - बांग्लादेश में भीषण बारिश, रोहिंग्या शिविरों में 5000 अस्थायी आश्रय नष्ट DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांग्लादेश में भीषण बारिश, रोहिंग्या शिविरों में 5000 अस्थायी आश्रय नष्ट

Rohingya refugees migrated from Myanmar to Bangladesh (AFP File Photo)

दक्षिण-पूर्वी बांग्लादेश स्थित रोहिंग्या शरणार्थी शिविरों में अप्रैल से हो रही मानसूनी वर्षा से हजारों अस्थायी आश्रय नष्ट हो गए हैं जिसमें कम से कम 10 व्यक्तियों की मौत हुई है। यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। बांग्लोदश के मौसम विभाग ने कहा कि कॉक्स बाजार जिले में दो जुलाई से कम से कम 58.5 सेंटीमीटर वर्षा हुई है।

म्यांमार में सैन्य कार्रवाई के बाद वहां से भागकर आए करीब 10 लाख रोहिंग्या मुस्लिम इस जिले में रहते हैं। इंटरनेशनल आर्गेनाइजेशन फॉर माइग्रेशन (आईओएम) की एक प्रवक्ता ने कहा कि भारी वर्षा से शरणार्थी शिविरों में मिट्टी धंसने से तिरपाल और बांस से बने 4,889 अस्थायी आश्रय नष्ट हो गए।

बांग्लादेश के पूर्व सैन्य तानाशाह इरशाद का निधन, 1982 में सत्तापलट के बाद बने थे राष्ट्रपति

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अप्रैल से इन शिविरों में 200 से अधिक बार भूस्खलन हुआ है जिनका निर्माण म्यांमार से लगती सीमा के पास हुआ है। भीषण बारिश से संबंधित घटनाओं में कम से कम 10 व्यक्तियों की मौत हुई है। पिछले सप्ताह ही भारी वर्षा के चलते दो रोहिेंग्याओं की मौत हो गई थी और 6,000 रोहिंग्या बिना आश्रय के हो गए।

विस्थापित शरणार्थी नुरुन जान ने कहा कि वह बहुत परेशान है क्योंकि वर्षा से शिविरों में दैनिक गतिविधियां प्रभावित होती हैं। विश्व खाद्य कार्यक्रम की प्रवक्ता जी स्नोडोन ने कहा कि मानसून को देखते हुए उन्हें शिविरों के लिए सहायता बढ़ानी पड़ी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Deadly monsoon destroys 5000 shelters in Bangladesh Rohingya camps