ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशब्रिटेन में एक दिन में दो चौंकाने वाले फैसले, गृहमंत्री हटीं और अब कैमरून बन गए विदेश मंत्री

ब्रिटेन में एक दिन में दो चौंकाने वाले फैसले, गृहमंत्री हटीं और अब कैमरून बन गए विदेश मंत्री

पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरून की ब्रिटेन सरकार में फिर से वापसी हुई है। प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की सरकार में उन्हें नया फॉरेन सेक्रेट्री बनाया गया है। सुएला की गृहमंत्री पद से छुट्टी हुई है।

ब्रिटेन में एक दिन में दो चौंकाने वाले फैसले, गृहमंत्री हटीं और अब कैमरून बन गए विदेश मंत्री
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,लंदनMon, 13 Nov 2023 05:16 PM
ऐप पर पढ़ें

ब्रिटेन में एक दिन में दो चौंकाने वाले फैसले हुए हैं। पहले तो गृहमंत्री सुएला ब्रेवरमैन की गृहमंत्री पद से छुट्टी हो गई। वहीं, पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरून की ब्रिटेन सरकार में फिर से वापसी हुई है। प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की सरकार में कैमरून को नया विदेश मंत्री बनाया गया है। डेविड कैमरून अब तक फॉरेन सेक्रेट्री रहे जेम्स क्लेवरली की जगह लेंगे। बता दें कि जेम्स क्लेवरली को सुएला ब्रेवरमैन की जगह नई जिम्मेदारी दी गई है। गौरतलब है कि डेविड कैमरून साल 2010 से 2016 के बीच ब्रिटेन के प्रधानमंत्री रह चुके हैं। 

डेविड कैमरून ने की सुनक की तारीफ
अपनी नियुक्त को लेकर डेविड कैमरून का भी बयान आया है। उन्होंने कहाकि कुछ निजी फैसलों को लेकर मेरे विचार अलग हो सकते हैं। लेकिन यह स्पष्ट है कि ऋषि सुनक एक मजबूत और सक्षम प्रधानमंत्री हैं। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहाकि उन्होंने बेहद खुशी के साथ यह पद स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन फिलहाल कई अंतर्राष्ट्रीय चुनौतियों का सामना कर रहा है। इसमें यूक्रेन में चल रहा युद्ध और मिडिल ईस्ट का संकट भी शामिल है। इन वैश्विक चुनौतियों के बीच हमारे देश के लिए अपने सहयोगियों के साथ खड़े होने का सुनहरा अवसर है। साथ ही अपनी आवाज को मजबूत बनाने और पारस्परिक सहयोग को बेहतर करने का मौका है।

अनुभव काम आने की जताई उम्मीद
कैमरून ने आगे कहा कि मुझे उम्मीद है कि बतौर कंजर्वेटिव लीडर 11 और प्रधानमंत्री के तौर पर छह साल का अनुभव वर्तमान प्रधानमंत्री को इन चुनौतियों से पार माने में मददगार होगा। इस बीच ऋषि सुनक के ऑफिस ने कहा है कि किंग चार्ल्स ने डेविड कैमरून को ब्रिटेन के उच्च सदन में सीट देने को मंजूरी दे दी है। बता दें कि डेविड कैमरून ब्रिटिश संसद के चुने हुए सदस्य नहीं हैं।

ब्रिटिश राजनीति में वापसी के मायने क्या
डेविड कैमरून की ब्रिटिश राजनीति में वापसी काफी चौंकाने वाली मानी जा रही है। पिछले सात साल से वह अपना मेमोयर लिखने और बिजनेस को लेकर व्यस्त थे। डेविड कैमरन ने 2020 में कंपनी की पैरवी करने के लिए वरिष्ठ मंत्रियों से बार-बार संपर्क किया था। इसके बाद वित्त संकट के चलते यह सवाल उठने लगे हैं कि पूर्व नेता किस हद तक सरकारी नीतियों को प्रभावित करने के लिए अपने रुतबे का इस्तेमाल कर सकते हैं।

विवादास्पद लेख के बाद सुएला की छुट्टी
गौरतलब है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने सोमवार को भारतीय मूल की अपनी गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन को बर्खास्त कर दिया। प्रधानमंत्री ऑफिस से यह सूचना मिली। सुनक ने यह कदम मेट्रोपॉलिटन पुलिस को निशाना बनाने वाला एक विवादास्पद लेख प्रधानमंत्री की अनुमति के बिना एक अखबार में प्रकाशित होने के कुछ दिन बाद उठाया है। अखबार में विवादास्पद लेख के प्रकाशन के बाद से ही ब्रेवरमैन के भविष्य को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं। अखबार ‘द टाइम्स’ में छपे एक लेख में ब्रेवरमैन ने मेट्रोपॉलिटन पुलिस पर इजराइल-हमास संघर्ष शुरू होने के बाद लंदन में होने वाले प्रदर्शनों से सख्ती से नहीं निपटने का आरोप लगाया था।