DA Image
5 जून, 2020|5:18|IST

अगली स्टोरी

यूरोप में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों की संख्या 7,50,000 के पार

coronavirus in china  file pic

यूरोप में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले 7,50,000 के पार चले गये हैं। एएफपी ने अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह 11 बजे आधिकारिक सूत्रों से एकत्रित आंकड़ों के अनुसार यह संख्या बताई है। यह संख्या दुनियाभर में अब तक पता चले मामलों की संख्या के आधे से ज्यादा है। हालांकि, आधिकारिक आंकड़े वास्तविक संख्या के एक हिस्से भर को ही दर्शाते हैं। 

दुनियाभर में अब तक नोवेल कोरोना वायरस के 14,38,291 मामले दर्ज किये गये हैं और 82,726 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे बुरी तरह इटली प्रभावित हुआ है जहां अब तक कुल 1,35,586 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 17,127 लोगों की मौत हुई है। वहीं, स्पेन में 1,46,690 मामले दर्ज किये गये हैं और 14,555 लोगों की मौत हो चुकी है।

जून तिमाही में जर्मनी की जीडीपी में करीब 10 प्रतिशत गिरावट की आशंका

यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था जर्मनी के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में इस साल की दूसरी तिमाही (अप्रैल-जून) में करीब 10 प्रतिशत की भारी गिरावट आने का जोखिम मंड़राने लगा है। छह शीर्ष शोध संस्थानों ने बुधवार को इस बाबत चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना वायरस ने जर्मनी की अर्थव्यवस्था को अपाहिज बना दिया है।

आईएफओ, डीआईडब्ल्यू और आरडब्ल्यूआई समेत शोध संस्थानों ने सालाना ग्रीष्मकालिक रिपोर्ट में कहा है, ''कोरोना महामारी से जर्मनी में गंभीर आर्थिक मंदी आएगी। इन संस्थानों के अनुसार, जर्मनी की जीडीपी के आकार में पहली तिमाही में 1.9 प्रतिशत की गिरावट आने का अनुमान है। यह गिरावट दूसरी तिमाही में और बढ़कर 9.8 प्रतिशत पर पहुंच सकती है।

यदि ऐसा हुआ तो दूसरी तिमाही की गिरावट 1970 के बाद की सबसे बड़ी होगी। इन संस्थानों ने जर्मनी की अर्थव्यवस्था की निगरानी 1970 में ही शुरू की थी। यह गिरावट 2008-09 के आर्थिक संकट के दौरान देखी गयी सबसे बड़ी गिरावट की दोगुनी होगी। पूरे साल के दौरान जर्मनी की अर्थव्यवस्था में 4.2 प्रतिशत की गिरावट की आशंका है।

जर्मनी के वित्त मंत्री पीटर एल्टमेयर ने भी हाल ही में आकलन बताते हुए कहा था कि 2020 में जर्मनी की जीडीपी में पांच प्रतिशत के करीब गिरावट आ सकती है। जर्मनी के आर्थिक विशेषज्ञों की परिषद 'वाइज मेन ने भी इस साल जीडीपी में 2.8 प्रतिशत से 5.4 प्रतिशत के बीच गिरावट आने की आशंका व्यक्त की है।

कोरोना वायरस महामारी की मार से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिये दुनिया भर की सरकारें विभिन्न उपाय कर रही हैं। जर्मनी ने भी कंपनियों और कामगारों के बचाव के लिये 1,100 अरब यूरो के भारी-भरकम पैकेज की पेशकश की है। सरकार ने रोजगार बचाने के लिये भी कई उपाय किये हैं।

हालांकि इन छह संस्थानों को मानना है कि तमाम उपायों के बाद भी मंदी की मार रोजगार पर पड़ना तय है। जर्मनी में लंबे समय से बेरोजगारी की दर पांच प्रतिशत के आस-पास रही है। संस्थानों ने कहा है कि मंदी के कारण यह दर इस साल 5.9 प्रतिशत पर पहुंच सकती है।

संस्थानों ने कहा कि जर्मनी के पास अच्छा भंडार है और यह आर्थिक गिरावट से जूझने की स्थिति में है। उन्होंने कहा कि मध्यम अवधि में जर्मनी की अर्थव्यवस्था वापसी कर सकती है। इन संस्थानों ने 2021 में जर्मनी की वृद्धि दर 5.8 प्रतिशत रहने का अनुमान व्यक्त किया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona virus infection cases in Europe exceed 750000