DA Image
28 अक्तूबर, 2020|10:40|IST

अगली स्टोरी

एक घंटे की फ्लाइट में दुनिया के किसी भी देश का सफर, जानिए किस टेक्नॉलजी पर काम कर रहा चीन

china space technology flight

350 किलोमीटर प्रतिघंटे तक की स्पीड से बुलेट ट्रेन दौड़ाने वाला चीन अब एक ऐसी टेक्नॉलजी विकसित करना चाहता है, जिससे घंटेभर में ही दुनिया के किसी भी कोने में पहुंचा जा सकता है। चीनी वैज्ञानिक स्पेस टेक्नॉलजी के जरिए इसे मुमकिन बनाने की सोच रहे हैं। चीन के एक बड़े वैज्ञानिक ने इसके लिए 2045 का लक्ष्य तय करते हुए कहा है कि यह विमान उड़ानों जितना सामान्य होगा। 

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक चाइना एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नॉलजी कॉर्पोरेशन (सीएएससी) के साइंस एंड टेक्नॉलजी कमिशन के डायरेक्टर बाओ वेइमिन ने 2020 चाइना स्पेस कांफ्रेंस के दौरान यह विचार दिया। यह पूर्वी चीन के फुजिआन प्रांत की राजधानी फुझोउ में आयोजित किया गया है।

बाओ ने कहा कि इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए तीन डिवेलपमेंट्स की जरूरत होगी। 2025 से पहले अहम टेक्नॉलजी का विकास करना होगा। 2035 तक स्पेस ट्रैवल जैसे एयरलाइनर का स्केल इतना बड़ा होगा कि हजारों यात्री और हजारों किलो सामानों को ढोया जा सकेगा। 

चीनी वैज्ञानिक ने कहा कि 2045 तक स्पेस ट्रैवल के लिए एक पूरा सिस्टम तैयार हो जाएगा। हर साल हजारों विमान उड़ेंगे, जिनमें लाखों यात्री सफर करेंगे। बाओ ने कहा कि इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल करने के लिए हाइपरसोनिक फ्लाइंग टेक्नॉलजी और दोबारा इस्तेमाल किए जा सकने वाले रॉकेट कैरियर टेक्नॉलजी की आवश्यकता होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinese scientists are exploring space technology for travel anywhere in the world within one hour