DA Image
2 नवंबर, 2020|9:02|IST

अगली स्टोरी

चीन की कंपनी का दावा- कोरोना वायरस के टीके का बंदरों पर परीक्षण रहा सफल

chinese company claims that coronavirus covid19 vaccine tested successfully on monkeys   representat

चीन की एक दवा कंपनी ने दावा किया है कि नोवेल कोरोना वायरस के टीके का बंदरों पर परीक्षण सफल रहा है। चीनी कंपनी सिनोवैक बायोटेक ने इस टीके का परीक्षण आठ रीसस मकाऊ बंदरों पर किया। उसने कहा कि परीक्षण के दौरान टीके ने बंदरों को संक्रमण से संरक्षित किया।

कंपनी के मुताबिक, यह टीका कोरोना वायरस को आंशिक से पूरी तरह तक खत्म कर देता है। टीके की दो अलग-अलग खुराक बंदरों को दी गईं।

कंपनी ने कहा है कि तीन सप्ताह बाद ये बंदर वायरस के संपर्क में आए, लेकिन संक्रमित नहीं हुए। फिर वायरस से संक्रमित करने के बाद चार बंदरों को टीके की ज्यादा खुराक दी गई थी और सात दिन के बाद उनके फेफड़ों में वायरस का संक्रमण बहुत ही कम देखा गया। 16 अप्रैल से इस टीके का मानव परीक्षण शुरू किया गया है।

कोरोना की वैक्सीन बनाने के बहुत करीब है अमेरिका: ट्रंप
अमेरिका, जर्मनी, ब्रिटेन और चीन में होने वाले वैक्सीन टेस्ट्स पर ध्यान देने के बाद व्हाइट हाउस में डेली ब्रीफिंग के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाल ही में कहा था, “हम वैक्सीन के बेहद करीब हैं। हमारे पास इस पर काम करने वाले बेहद कमाल के, शानदार दिमाग वाले लोग हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “दुभार्ग्य से हम टेस्टिंग के बहुत करीब नहीं हैं क्योंकि जब परीक्षण शुरू होता है तो इसमें कुछ समय लगता है, लेकिन हम इसे पूरा कर लेंगे।” बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वाइस-प्रेसिडेंट माइक पेंस और व्हाइट हाउस कोरोना वायरस टास्कफोर्स के को-ऑर्डिनेटर डेबोराह बीरक्स भी उनके साथ मौजूद थे। अमेरिकी सरकार के शीर्ष टॉप इन्फेक्शन डिजीज एक्सपर्ट डॉ. एंथोनी फौसी ने पहले कहा था कि व्यापक रूप से इस्तेमाल के लिए एक वैक्सीन को तैयार होने में 12 से 18 महीने लगेंगे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinese company claims that Coronavirus COVID19 vaccine tested successfully on monkeys