DA Image
15 जुलाई, 2020|5:38|IST

अगली स्टोरी

'LAC पर उत्तर की ओर बढ़ गई है चीनी सेना, ये सत्तावादी शासन जैसी कार्रवाई'

mike pompeo

भारत के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन ने अपनी सेना बढ़ा दी हैं। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने सोमवार को कहा, कि सत्तावादी शासन इस प्रकार की कार्रवाई करते हैं। लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में LAC के साथ कई क्षेत्रों में हाल ही में भारतीय और चीनी दोनों सेनाओं  के बीच झड़प हुई, जिसको लेकर दो सप्ताह बाद भी दोनों पक्षों द्वारा सख्त होने के स्पष्ट संकेत थे। 

पोम्पेओ ने  मार्क थिएसेन और डेनियल पेलेका  से एईआई के 'व्हाट द हेल इज गोइंग ऑन' पॉडकास्ट में कहा, "हम आज भी देखते हैं कि चीन की बढ़ती ताकतें भारतीय नियंत्रण रेखा पर भारत के उत्तर की ओर बढ़ गई हैं।"चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) ने वुहान में शुरू होने वाले कोरोना वायरस महामारी के लिए वैश्विक प्रतिक्रिया को छिपाना और बाधित करना जारी रखा है। उन्होंने कहा कि इसने हांगकांग के लोगों की अद्भुत स्वतंत्रता को नष्ट करने वाली कार्रवाई की है। पोम्पेओ ने कहा कि ये उस प्रकार की कार्रवाइयां हैं जो अधिनायकवादी शासन करते हैं, और उनका वास्तविक प्रभाव न केवल चीन के लोगों पर बल्कि दुनिया भर के लोगों पर पड़ता है

इधर, भारत-चीन की सीमा पर जारी तनातनी के बीच एक मीडिया रिपोर्ट से चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने वर्ष 2017 के डोकलाम गतिरोध के बाद से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हथियारों की संख्या में बढ़ोतरी की है।

चीन के टैबलॉयड ग्लोबल टाइम्स ने सैन्य एक्सपर्ट के हवाले से बताया, 'चीनी सेना ने भारत के साथ साल 2017 में हुए डोकलाम मुद्दे के बाद टाइप 15 टैंक, जेड-20 हेलीकॉप्टर और जीजे-2 ड्रोन जैसों और हथियारों को शामिल किया। इससे ऊंचाई वाले इलाकों में होने वाले युद्ध या फिर टकराव की स्थिति में फायदा उठाया जा सके।' इन नए हथियारों की सूची की जानकारी उस समय सामने आई है जब चीन और भारत के बीच सीमा पर तनातनी चल रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinese army has moved north on LAC this action like authoritarian rule SAYS mike pompeo