DA Image
1 नवंबर, 2020|7:31|IST

अगली स्टोरी

US के रास्ते पर चला चीन, अमेरिकी सेना की तर्ज पर PLA को करेगा तैयार

us                                                                                                                     pla

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के हाल ही में संपन्न एक महत्वपूर्ण सम्मेलन में अमेरिका की तर्ज पर 2027 तक एक पूरी तरह आधुनिक सेना के निर्माण की योजना को अंतिम रूप दिया गया। प्रकाशित खबरों में यह कहा गया है। सरकारी ग्लोबल टाइम्स ने शनिवार को चीनी विश्लेषकों के हवाले से कहा कि पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की स्थापना के सौ वर्ष 2027 में पूरे होंगे और चीन तब तक एक पूरी तरह आधुनिक सेना का निर्माण करेगा। यह लक्ष्य राष्ट्रीय क्षमता के अनुरूप है और भविष्य की राष्ट्रीय रक्षा जरूरतों को पूरा करेगा।

राष्ट्रपति शी चिनफिंग की अध्यक्षता में सत्तारूढ़ सीपीसी के पूर्ण सत्र में राष्ट्रीय आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए 14वीं पंचवर्षीय योजना (2021-25) तथा 2035 तक के दीर्घकालिक लक्ष्यों को तय करने के उनके प्रस्तावों को अपनाया गया।

चौदहवीं पंचवर्षीय योजना में चीन की निर्भरता सिकुड़ते निर्यात बाजार पर कम करने के लिहाज से खपत बढ़ाने के लिए देश के घरेलू बाजार को दुरुस्त करने का लक्ष्य है, वहीं 2035 के दृष्टिकोण में सेना समेत देश के विकास का खाका है। राजनीतिक रूप से शी के इस दृष्टिकोण से इन अटकलों को बल मिला है कि वह अगले 15 साल सत्ता में बने रह सकते हैं। माओ जेदांग के बाद शी (67) सीपीसी के सबसे अधिक शक्तिशाली नेता बनकर उभरे हैं।

यह भी पढ़ें: चीन सीमा के पास सेना की अंतिम चौकी तक पहुंचीं गाड़ियां, पूरी सड़क बनना बाकी

सीपीसी की केंद्रीय समिति के चार दिन तक चले पांचवें पूर्ण सत्र की बृहस्पतिवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार देश की राष्ट्रीय रक्षा क्षमताओं और आर्थिक ताकत को मजबूत किया जाना चाहिए और 2027 तक एक आधुनिक सेना के निर्माण के शताब्दी लक्ष्य तक पहुंचना चाहिए।

हॉन्ग-कॉन्ग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार ने लिखा कि शी की अध्यक्षता में हुई बैठक में पीएलए को 2027 तक आधुनिक सैन्य बल बनाने का नया लक्ष्य तय किया गया है, तब तक चीन की सेना को अमेरिका की तर्ज पर तैयार किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:China on the way to the US will prepare the PLA on the lines of the US military