DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीनी अंतरिक्षयान चांग ई-4 ने चंद्रमा के पिछले हिस्से की तस्वीर भेजी

moon

चंद्रमा पर उतरने वाले चीन के ‘चांग ई-4’ अंतरिक्षयान ने उतरने वाली जगह के क्षेत्र को बेहतर ढंग से दिखाने वाली पहली तस्वीर भेजी है। शुक्रवार को आधिकारिक मीडिया की एक खबर में यह जानकारी दी गई। 

यह यान धरती से कभी न नजर आने वाले चंद्रमा के सबसे दूर के हिस्से पर उतरने वाला पहला अंतरिक्षयान है। ‘चांग ई-4’ तीन जनवरी को चंद्रमा के सबसे दूर के हिस्से में उतरा और प्राकृतिक उपग्रह के कभी न देखे गए हिस्से तक पहुंचने वाला विश्व का पहला अंतरिक्षयान बन गया। लैंडर के सबसे ऊपरी हिस्से पर लगे कैमरे से ली गई 360 डिग्री का विशाल दृश्य पेश करने वाली तस्वीरें जारी की। बताया गया कि ये तस्वीरें क्वेक्यिाओ उपग्रह से भेजी गईं। 

गौरतलब है कि चांग ई-4 और चंद्रयान-2 दोनों ही 'सबसे पहले' चंद्रमा की धरती पर उतरना चाहते थे। चांद के इस हिस्‍से के बारे में अभी तक कोई पुख्‍ता जानकारी नहीं है। धरतीवासियों की नजर से दूर रहने वाले इस हिस्से में अधिक पहाड़ी और पथरीला क्षेत्र है, जबकि चंद्रमा के उजले हिस्से में समतल क्षेत्र अधिक है।

चांद का हमेशा एक ही हिस्‍सा हमें इसलिए दिखता है, क्‍योंकि जिस गति से वह पृथ्‍वी के चक्‍कर लगाता है, उसी गति से अपनी धुरी पर भी चक्‍कर लगाता है। यही कारण है कि चांद का एक हिस्‍सा हमें नहीं दिखाई देता है। बताया जाता है कि चंद्रमा का अनदेखा हिस्‍सा मानव के बसने के लिए आदर्श है क्योंकि यहां पानी बर्फ के रूप में रहता है। यान से बंधा लैंडर में लगे जर्मन विकिरण डिटेक्टर यह परीक्षण करेंगे कि लोगों के लिए लंबे समय तक जीवित रहना कितना खतरनाक होगा। 

चीन ने चंद्रमा के अंधेरे हिस्से पर उतरा स्पेसक्राफ्ट : स्टेट टीवी

चांद के अंधेरे हिस्से की पड़ताल करेगा चीन का रिले उपग्रह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chang E 4 sends firsts images of dark side of moon