DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रिटेन के युद्धक जहाज ने ईरान के प्रयास को रोका, खाड़ी में टैंकर के मार्ग को बाधित होने से बचाया

ब्रिटेन की सरकार ने गुरुवार को कहा कि ईरान की हथियारों से लैस नौकाओं ने खाड़ी क्षेत्र में एक ब्रिटिश सुपर टैंकर के मार्ग को बाधित करने की कोशिश की, लेकिन उसके एक युद्ध-पोत ने हस्तक्षेप करके उसे विफल कर दिया। ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने इस घटना में अपनी संलिप्तता से इंकार किया है। हालांकि, जिब्राल्टर के पास ईरान के स्वामित्व वाले एक टैंकर को पिछले सप्ताह ब्रिटेन की नौसेना के जब्त कर लेने पर अमेरिका और ब्रिटेन दोनों को आगाह किया कि वे काफी पछताएंगे।

जिब्राल्टर पुलिस ने इस चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए जब्त ईरानी टैंकर के भारतीय कैप्टन और अधिकारी की गिरफ्तारी की घोषणा की। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट करके अमेरिकी दबाव बढ़ा दिया कि बढ़ी हुई परमाणु गतिविधियों को लेकर ईरान पर जल्द ही काफी प्रतिबंध बढ़ाया जाएगा।

तेजी से बदले घटनाक्रम ने ईरान के साथ 2015 के परमाणु समझौते को बचाने के ब्रिटेन और उसके यूरोपीय सहयोगियों के प्रयासों को और जटिल बना दिया है। ईरान के साथ परमाणु समझौते से अमेरिका पहले ही बाहर हो चुका है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि तीन ईरानी नौकाओं ने ब्रिटिश हेरिटेज नामक एक वाणिज्यिक जहाज के 'मार्ग को बाधित करने की कोशिश की। 274 मीटर लंबे टैंकर का स्वामित्व ऊर्जा क्षेत्र की बड़ी ब्रिटिश कंपनी बीपी के पास है और यह 10 लाख बैरल तेल ले जा सकता है। 

Read Also : पाकिस्तान में 2030 तक 4 में से 1 बच्चा अनपढ़ रह जाएगा : यूनेस्को

डाउनिंग स्ट्रीट के एक प्रवक्ता ने कहा, ''हम इस कार्रवाई से चिंतित हैं और ईरानी अधिकारियों से क्षेत्र में हालात को बेहतर करने के लिए आग्रह करते हैं। 'द टाइम्स अखबार ने बताया कि ब्रिटेन अब विचार कर रहा है कि खाड़ी में अन्य नौसैनिक संसाधन भेजे जाएं या नहीं।

'स्काई न्यूज ने कहा कि परिवहन मंत्रालय ने हाल के दिनों में सभी ब्रिटिश-ध्वज वाले वाणिज्यिक जहाजों को इस क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा के साथ जाने का नया दिशा-निर्देश जारी किया था। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा, ''तीन ईरानी जहाजों ने होर्मुज जलडमरूमध्य में वाणिज्यिक पोत ब्रिटिश हेरिटेज के मार्ग को बाधित करने का प्रयास किया। 

Read Also : अमेरिका ने लगाया हिजबुल्लाह सांसदों पर प्रतिबंध

मंत्रालय के बयान में कहा गया, ''एचएमएस मॉन्ट्रो को ईरानी जहाजों और ब्रिटिश हेरिटेज के बीच खुद को लाने और ईरानी जहाजों को मौखिक चेतावनी जारी करने पर मजबूर होना पड़ा। इसके बाद वे चले गए। ईरान का रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स - एक विशाल और शक्तिशाली सुरक्षा संगठन है जिसे अमेरिका ने मई के बाद से हुए कई टैंकर हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराया है। रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने ब्रिटेन के टैंकर को जब्त करने या बाधित करने की कोशिश से इनकार किया।

रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने एक बयान में कहा, ''पिछले 24 घंटों में किसी भी विदेशी जहाजों के साथ कोई टकराव नहीं हुआ है। ब्रिटेन के रक्षा सूत्रों ने ब्रिटिश मीडिया को बताया कि रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स के जहाज ने पहले रोकने और फिर सुपर टैंकर को ईरानी किनारे की ओर मोड़ने का प्रयास किया। ब्रिटेन के युद्धपोत ने तब ईरानी नौकाओं पर अपने हथियार तान दिये और रेडियो से चेतावनी दी। 

सीएनएन ने बताया कि एक अमेरिकी निगरानी विमान ने ऊपर से घटनाक्रम के वीडियो फुटेज को कैप्चर किया। रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स के उप कमांडर अली फडवी ने ईरान के टैंकर को ब्रिटेन के जब्त करने लेने को 'मूर्खता बताया। फडवी ने कहा, ''अगर दुश्मन ने मामूली आकलन भी किया होता, तो वे यह कृत्य नहीं करते। जिब्राल्टर के अधिकारियों - स्पेन के दक्षिणी सिरे पर एक ब्रिटिश विदेशी क्षेत्र - ने कहा कि मालवाहक जहाज सीरिया जा रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Britain stopped the Iran effort to disrupt its tankes path in the Gulf