ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशपाकिस्तान में ईद-उल-अजहा से पहले खुशखबरी, पेट्रोल 10, डीजल 20 रुपये सस्ता

पाकिस्तान में ईद-उल-अजहा से पहले खुशखबरी, पेट्रोल 10, डीजल 20 रुपये सस्ता

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान में लोग महंगाई की मार झेल रहे हैं। इस बीच पाकिस्तान सरकार ने ईद-उल-अजहा से पहले लोगों को बड़ी राहत देते हुए पेट्रोल दस रुपये सस्ता करने की घोषणा की है।

पाकिस्तान में ईद-उल-अजहा से पहले खुशखबरी, पेट्रोल 10, डीजल 20 रुपये सस्ता
Jagritiपीटीआई,इस्लामाबादSat, 15 Jun 2024 04:48 PM
ऐप पर पढ़ें

कैश की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान में महंगाई की मार झेल रहे लोगों को बड़ी राहत मिली है। सरकार ने ईद-उल-अजहा से पहले पेट्रोल और हाई-स्पीड डीजल (एचएसडी) की कीमतों में कटौती की घोषणा की है। पेट्रोल की कीमत में 10.20 तो वहीं डीजल की कीमत में 2.33 रुपये प्रति लीटर की कटौती की गई है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने शुक्रवार को पीएम ऑफिस के एक बयान के हवाले से बताया कि शनिवार से प्रभावी होने वाली इस कटौती से पेट्रोल की कीमत 258.16 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी, जबकि एचएसडी की कीमत 267.89 रुपये प्रति लीटर होगी।

पाकिस्तान का वित्त विभाग आमतौर पर हर 15 दिन में ईंधन की कीमतों की समीक्षा करता है। विभाग ने इस कटौती के लिए एक ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी किया और कहा कि नई कीमतें अगले पंद्रह दिनों के लिए लागू होंगी। नोटिफिकेशन में कहा गया है कि तेल और गैस विनियामक प्राधिकरण ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों के आधार पर खुदरा मूल्य निर्धारित किए हैं। पेट्रोलियम की कीमतों में कटौती के कदम से पाकिस्तान के लोगों को लाभ होगा, जहां महंगाई दर बहुत बढ़ गई है। मई 2022 में पाकिस्तान मे 20 प्रतिशत से अधिक की महंगाई दर से जूझ रहा था। कैश की कमी को देखते हुए पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के बेलआउट कार्यक्रम के तहत कुछ रिफॉर्म्स भी किए हैं।

हालांकि, आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में वार्षिक महंगाई दर कम होकर 17.3 प्रतिशत पर आ गई, जो लगभग दो वर्षों में सबसे निचला स्तर है और मई 2023 में दर्ज किए गए 38 प्रतिशत के रिकॉर्ड से काफी कम है। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, 31 मई को सरकार ने पेट्रोल और एचएसडी की कीमतों में क्रमश: 4.74 रुपये प्रति लीटर और 3.86 रुपये की कटौती की थी। वैश्विक तेल कीमतों में कमी के कारण पिछले डेढ़ महीने में तीन बार दामों में कटौती की गई है।