ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशबर्लिन के पास वक्त है, कीव के पास नहीं... यूक्रेन के विदेश मंत्री ने जर्मनी से मांगे हथियार

बर्लिन के पास वक्त है, कीव के पास नहीं... यूक्रेन के विदेश मंत्री ने जर्मनी से मांगे हथियार

कुलेबा गुरुवार को नाटो मुख्यालय में सैन्य संगठन के विदेश मंत्रियों से बातचीत के लिए पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा उद्देश्य बेहद सामान्य है....और यह है हथियार, हथियार और बस हथियार।

बर्लिन के पास वक्त है, कीव के पास नहीं... यूक्रेन के विदेश मंत्री ने जर्मनी से मांगे हथियार
Niteesh Kumarभाषा,कीवThu, 07 Apr 2022 01:41 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने उत्तर अटंलाटिक संधि संगठन (नाटो) से उनके युद्धग्रस्त देश को हथियार मुहैया कराने की अपील की है। कुलेबा गुरुवार को नाटो मुख्यालय में सैन्य संगठन के विदेश मंत्रियों से बातचीत के लिए पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा उद्देश्य बेहद सामान्य है....और यह है हथियार, हथियार और बस हथियार। उन्होंने कहा हमें लड़ना आता है। हमें जीतना आता है, लेकिन यूक्रेन जो मांग कर रहा है उसकी सतत और पर्याप्त आपूर्ति के बिना जीत बहुतों की कुर्बानियां ले लेगी।

विदेश मंत्री ने कहा कि जितने ज्यादा हमें हथियार मिलेंगे और जितना जल्दी वे यूक्रेन पहुंचेंगे, उतने ही इंसानों की जिंदगियां बचाई जा सकेंगी। विदेश मंत्री ने खास तौर पर जर्मनी से आग्रह किया और बेहद जरूरी साजोसामान और हथियार भेजने में तेजी लाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि बर्लिन के पास वक्त है पर कीव के पास नहीं।

यूक्रेन के पूर्वी हिस्से पर नए सिरे से हमले की तैयारी में रूस
वहीं, रूस ने यूक्रेन की राजधानी कीव के बाहरी इलाकों से तो अपनी फौज हटा ली है लेकिन वह पूर्वी हिस्से डोनबास पर हमले तेज करने की तैयारी कर रहा है। अधिकारियों ने क्षेत्र के लोगों से जल्द जल्द वहां से निकल जाने को कहा है। दक्षिणी बंदरगाह शहर मारियुपोल के मेयर ने बुधवार को कहा कि वहां पांच हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। 

इस बीच राजधानी के उत्तरी इलाकों में यूक्रेन के अधिकारी रूस के जुल्मों के सबूत इकट्ठे कर रहे हैं, जहां इस तरह के संकेत मिले हैं कि मॉस्को के सैनिकों ने जाते वक्त पिछले कई दिनों में लोगों की हत्याएं की हैं। रात में अपने संबोधन में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने आगाह किया कि रूस की सेना पूर्वी हिस्से में नए सिरे से हमला करने की तैयारी कर रही है। क्रेमलिन ने कहा है कि उसका लक्ष्य डोनबास को 'मुक्त' कराना है।

epaper