ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशबलोचिस्तान की पार्टी ने बिगाड़ा इमरान खान का खेल, मंत्री ने भी छोड़ा साथ; समझिए पाक की सत्ता का गणित

बलोचिस्तान की पार्टी ने बिगाड़ा इमरान खान का खेल, मंत्री ने भी छोड़ा साथ; समझिए पाक की सत्ता का गणित

पाकिस्तान नेशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव पेश किए जाने के कुछ घंटे बाद इमरान खान की सरकार के एक कैबिनेट सदस्य ने इस्तीफा दे दिया। संघीय आवास मंत्री तारिक बशीर चीमा बहावलपुर से पीएमएल-क्यू के

बलोचिस्तान की पार्टी ने बिगाड़ा इमरान खान का खेल, मंत्री ने भी छोड़ा साथ; समझिए पाक की सत्ता का गणित
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तानMon, 28 Mar 2022 11:42 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान नेशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव पेश किए जाने के कुछ घंटे बाद इमरान खान की सरकार के एक कैबिनेट सदस्य ने इस्तीफा दे दिया। संघीय आवास मंत्री तारिक बशीर चीमा बहावलपुर से पीएमएल-क्यू के सदस्य हैं। चीमा ने विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में मतदान करने का फैसला लिया है।

इससे पहले दिन में, सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने पीएमएल-क्यू नेता चौधरी परवेज इलाही को पंजाब के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में घोषित किया था। इमरान खान की पार्टी ने अपने मौजूदा सीएम उस्मान बुजदार का इस्तीफा ले लिया था। बुजदार को भी इमरान खान की तरह ही अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ा था। 

पाकिस्तान मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान खान के राजनीतिक मामलों के विशेष सहायक ने दावा किया कि पीएमएल-क्यू ने सरकार को समर्थन देने का आश्वासन दिया था।

इमरान सरकार को इस प्रस्ताव को विफल करने के लिए 342 सदस्यीय नेशनल असेंबली में 172 मत की जरूरत होगी। हालांकि, खान के गठबंधन के 23 सदस्यों ने अबतक उनका समर्थन करने की प्रतिबद्धता नहीं जताई है और सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के करीब दो दर्जन सदस्यों ने बगावत कर दी है। ऐसे में उनके लिए अब भी मुश्किल स्थिति है।

बलूचिस्तान अवामी पार्टी ने बिगाड़ा इमरान का गेम

एक सदस्य के विपक्ष में जाने के बाद, पीएमएल-क्यू में अब चार सदस्य बचे हैं जो पीटीआई के अनुसार सरकार का समर्थन करेंगे। 342 सदस्यीय पाकिस्तान नेशनल असेंबली में, पीएमएल-एन, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी सहित विपक्षी दलों को 163 सदस्यों का समर्थन प्राप्त है। 

इसके अलावा बलूचिस्तान अवामी पार्टी ने इमरान खान को झटका देते हुए विपक्ष को अपना समर्थन देने की घोषणा की है। इससे विपक्ष की ताकत 168 हो गई है, जो इमरान खान सरकार को बेदखल करने के लिए आवश्यक संख्या से सिर्फ चार वोट कम है।

सभी की निगाहें मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पर 

अब, सभी की निगाहें मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पर हैं, जिसके असेंबली में सात सदस्य हैं। अगर यह विपक्ष को वोट देती है, तो इमरान खान की सरकार गिर जाएगी। बता दें कि पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पहले ही पेश हो चुका है। अब मतदान तीसरे दिन के बाद और सातवें दिन से पहले होना है। पाकिस्तान के संविधान के अनुसार, प्रधानमंत्री सदन को भंग नहीं कर सकते और नए सिरे से चुनाव कराने का आदेश नहीं दे सकते हैं।

इमरान खान कई बार दोहरा चुके हैं कि वह इस्तीफा नहीं देंगे और आखिरी गेंद तक लड़ते रहेंगे। रविवार को इस्लामाबाद के परेड ग्राउंड में एक रैली के दौरान, 69 वर्षीय राजनेता ने उनकी सरकार को गिराने के प्रयासों के पीछे एक विदेशी साजिश का आरोप लगाया।

epaper