Attack on government building in Kabul 12 killed 31 injured - काबुल में सरकारी इमारत पर हमला, 12 की मौत, 31 घायल: स्वास्थ्य मंत्रालय DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काबुल में सरकारी इमारत पर हमला, 12 की मौत, 31 घायल: स्वास्थ्य मंत्रालय

काबुल धमाका

शहर में एक सरकारी मंत्रालय के बाहर एक आत्मघाती हमलावर ने आज खुद को विस्फोट करके उड़ा लिया और इस घटना में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई जबकि 31 अन्य घायल हुए। अधिकारियों ने कहा कि घटना के वक्त कर्मचारी रमजान के लिए समय से पहले अपने कार्यालयों से बाहर निकल रहे थे। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वहीद माजरोह ने ग्रामीण पुनर्वास एवं विकास मंत्रालय के मुख्य द्वार पर हुए हमले में मारे गये लोगों की संख्या के बारे में जानकारी दी। 

युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में शांति के लिए सैकड़ों किलोमीटर की पदयात्रा कर रहे हैं प्रदर्शनकारी

युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में पिछले 17 सालों से जारी संघर्ष के अंत की मांग को लेकर दर्जनों प्रदर्शनकारी सैकड़ों किलोमीटर की पदयात्रा कर रहे हैं। आयोजकों ने कहा कि मई में नौ लोगों ने हफ्तों लंबा युद्ध विरोधी मार्च शुरू किया था और तब से उनकी संख्या बढ़कर 50 हो गयी। ये लोगो पैरों में पड़े छालों और भूख - प्यास की परवाह किए बिना आगे बढ़ते जा रहे हैं। 

पदयात्रा तालिबान के गढ़ हेलमंद प्रांत से शुरू हुई। हेलमंद दक्षिणी अफगानिस्तान में हैं। रमजान का पाक महीना इस हफ्ते खत्म हो रहा है। समूह को रमजान के खत्म होने तक राजधानी काबुल पहुंचने की उम्मीद है जहां वह अफगान नेताओं को शांति की मांगों से जुड़़ी एक सूची सौंपेगा। काबुल हेलमंद से करीब 700 किलोमीटर दूर है। 

विरोध प्रदर्शनकारियों में जहीर अहमद जिंदानी शामिल है। कई साल पहले एक विस्फोट में जहीर की आंखों की रोशनी छीन गयी थी और उसकी बहन मारी गयी थी। समूह के दक्षिणपूर्वी अफगानिस्तान के गजनी प्रांत की राजधानी गजनी पहुंचने पर जहीर ने कहा कि हम इस युद्ध और रक्तपात से थक चुके हैं। उसने कहा कि दोनों पक्षों को शांति वार्ता के लिए मिलना चाहिए। हम एक स्थायी एवं दीर्घकालीन शांति चाहते हैं। 

काबुल तक पदयात्रा करने की योजना के लिए शुरूआत में प्रदर्शनकारियों का उपहास किया गया था लेकिन धीरे धीरे बहुत सारे अफगानों ने उनका समर्थन करना शुरू करा दिया और अब काफी लोग सोशल मीडिया पर उनके समर्थन सहित तमाम तरीकों से उनकी हौसला अफजाई कर रहे हैं।

सोशल मीडिया यूजर जमीलुररहमान ने फेसबुक पर लिखा कि आपका हर कदम हमें अमन की उम्मीद देता है, अमन कायम ना होने तक अपना मार्च जारी रखें। एक दूसरे यूजर हमीदुल्ला ने लिखा कि शांति के लिए आपके हर कदम की खातिर अल्लाह आपको जन्नत नसीब करे। हमारे देश के हर हिस्से में अमन कायम हो।

UP : धार्मिक अनुष्ठान के दौरान सिलेंडर फटा, 6 महिलाओं की मौत 

उत्तर कोरिया के मीडिया में किम के सिंगापुर पहुंचने की खबर छाई रही

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Attack on government building in Kabul 12 killed 31 injured