DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय राजनयिक स्टाफ के 13 सदस्यों ने पाकिस्तान छोड़ा

indian high commissioner ajay bisaria   ani file photo

भारतीय राजनयिक स्टाफ के कम से कम 13 सदस्यों ने शनिवार को पाकिस्तान छोड़ दिया और वाघा में स्थित अंतर्राष्ट्रीय सीमा पार कर भारत लौट आए। जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने और संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने के बाद बढ़े तनाव के चलते पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापारिक संबंधों को खत्म करने व सभी द्विपक्षीय व्यवस्था की समीक्षा करने की बात कही है।

स्टाफ के सभी लोग अपने परिवार के साथ वापस लौट आए हैं। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, नागरिक-सैन्य नेतृत्व ने कश्मीर को लेकर स्थिति पर चर्चा की, जिसके बाद पाकिस्तानी सरकार ने कई फैसले किए हैं, उसी उपायों की एक श्रृंखला का यह निर्णय एक हिस्सा था।

रणनीति : जम्मू-कश्मीर के संविधान से ही निकाला अनुच्छेद 370 का ‘तोड़’

प्रधानमंत्री इमरान खान की सूचना एवं प्रसारण मामलों की विशेष सलाहकार फिरदौस आशिक अवान ने कश्मीर को लेकर पाकिस्तान के रूख को स्पष्ट किया और कहा कि पाकिस्तान अपने पुराने स्टैंड पर कायम है और वह अपने देश के हितों की रक्षा करेंगे। इससे पहले, प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी अपने कैबिनेट के सदस्यों को कहा कि वह सोशल मीडिया का सहारा लेकर कश्मीर मामले पर भारतीय बलों द्वारा किए जा रहे कार्यों का पदार्फाश करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Article 370 Row Indian Envoy Staff 13 Members Leave Pakistan