ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशछिड़ गई एक और जंग, अब अमेरिका ने शुरू किया ईरान से बदला लेना; कई दिन चलेगा युद्ध

छिड़ गई एक और जंग, अब अमेरिका ने शुरू किया ईरान से बदला लेना; कई दिन चलेगा युद्ध

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि उन्होंने इराक-सीरिया में अमेरिकी बलों पर हमला करने वाले समूहों से जुड़े संगठनों पर सैन्य हमले का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि जवाबी प्रतिक्रिया जारी रहेगी।

छिड़ गई एक और जंग, अब अमेरिका ने शुरू किया ईरान से बदला लेना; कई दिन चलेगा युद्ध
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Sat, 03 Feb 2024 07:10 AM
ऐप पर पढ़ें

US-Iran Tension: रूस-यूक्रेन और इजरायल-हमास के बीच जारी युद्ध अभी खत्म भी नहीं हुए हैं कि अमेरिका ने भी जंग छेड़ दिया है। उसने ईरान से बदला लेना शुरू कर दिया है। इस बात की संभावना है कि यह युद्ध भी लंबा खिच सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शुक्रवार को इराक और सीरिया के आतंकवादी समूहों को कड़ी चेतावनी जारी की है। इन समूहों ने अमेरिका और उसके सहयोगियों पर छिटपुट लेकिन लगातार हमले किए हैं। 

जॉर्डन में अमेरिकी सैन्य चौकी पर ईरान समर्थित आतंकवादियों द्वारा किए गए ड्रोन हमले के कुछ दिनों बाद इराकी सीमा क्षेत्रों पर अमेरिकी हवाई हमले हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ड्रोन हमले में तीन अमेरिकी सैनिक की जान चली गई थी और 40 से अधिक अन्य घायल हो गए थे।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि उन्होंने इराक और सीरिया में अमेरिकी बलों पर हमला करने वाले समूहों से जुड़े संगठनों पर सैन्य हमले का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि जवाबी प्रतिक्रिया जारी रहेगी। 

ड्रोन हमले में मारे गए अमेरिकी सैनिकों के सम्मान में आयोजित एक समारोह में शामिल हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, "अगर आप किसी अमेरिकी को नुकसान पहुंचाएंगे तो हम जवाब देंगे।"

आपको बता दें कि अमेरिका ने शुक्रवार को ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड (आईआरजीसी) और उसके समर्थित मिलिशिया से कथित तौर पर जुड़े 85 से अधिक ठिकानों के खिलाफ इराक और सीरिया में हवाई हमले शुरू किए। इस हमले में कथित तौर पर सीरिया में 18 आतंकवादी मारे गए।

अमेरिकी सेना द्वारा किए गए बड़े पैमाने पर हमलों में जिन ठिकानों को निशाना बनाया गया उनमें कमांड और नियंत्रण मुख्यालय, खुफिया केंद्र, रॉकेट और मिसाइल, ड्रोन और गोला-बारूद भंडारण स्थल और आतंकवादियों से जुड़ी अन्य सुविधाएं शामिल थीं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें