ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशजंग के बीच यूक्रेन का सेना प्रमुख बर्खास्त, पब्लिक का हीरो कहलाने वाले जालुजनी का राष्ट्रपति से था क्या विवाद?

जंग के बीच यूक्रेन का सेना प्रमुख बर्खास्त, पब्लिक का हीरो कहलाने वाले जालुजनी का राष्ट्रपति से था क्या विवाद?

Ukraine Top Commander Dismissed: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने जनरल वालेरी ज़ालुज़नी की जगह ओलेक्सैंडर सिरिस्की को नया सेना प्रमुख नियुक्त किया है। इससे पहले दोनों ने मुलाकात की थी।

जंग के बीच यूक्रेन का सेना प्रमुख बर्खास्त, पब्लिक का हीरो कहलाने वाले जालुजनी का राष्ट्रपति से था क्या विवाद?
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 09 Feb 2024 07:05 AM
ऐप पर पढ़ें

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने लगभग दो साल से रूस के खिलाफ आक्रामक जंग का नेतृत्व करने वाले सेना के शीर्ष कमांडर जनरल वलेरी ज़ालुज़नी ( Valerii Zaluzhnyi) को बर्खास्त कर दिया है। जेलेंस्की ने गुरुवार को कहा कि रूस के खिलाफ युद्ध में देश का सैन्य नेतृत्व करने वाले सेना प्रमुख जनरल वालेरी ज़ालुज़नी को हटा दिया गया है और उनकी जगह  ओलेक्सैंडर सिरिस्की (Oleksandr Syrsky) को नया सेना प्रमुख नियुक्त किया है। रक्षा मंत्री रुस्तम उमेरोव ने अलग से कहा कि सैन्य नेतृत्व में बदलाव का फैसला लिया गया है।

ये बयान उन अटकलों के बाद आए हैं जिनमें आशंका जाहिर की जा रही थी कि राष्ट्रपति जेलेंस्की अपने लोकप्रिय सेना प्रमुख को बर्खास्त करने पर विचार कर रहे हैं। यूक्रेन-रूस जंग के बीच पिछले दो साल से यूक्रेनी नागरिक जनरल वालेरी ज़ालुज़नी को राष्ट्रीय नायक के रूप में देखते रहे हैं।

ज़ेलेंस्की ने अपने बयान में कहा कि उन्होंने ज़ालुज़नी से मुलाकात की थी और उनसे चर्चा की कि यूक्रेन के सशस्त्र बलों को नवीनीकरण की जरूरत है। उन्होंने लिखा, "हमने इस बात पर भी चर्चा की कि यूक्रेन के सशस्त्र बलों का नया नेतृत्वकर्ता कौन हो सकता है क्योंकि इस नवीकरण का समय अब आ गया है।" हालांकि, राष्ट्रपति नेवालेरी जालुजनी को अपनी टीम में बने रहने को कहा है।

राष्ट्रपति ने यह कदम यूक्रेन के बहुप्रतीक्षित जवाबी हमले की विफलता के बाद ज़ेलेंस्की और उनके बेहद लोकप्रिय सैन्य प्रमुख के बीच पैदा हुए तनाव के बाद उठाया है। इस वक्त जहां यूक्रेन को नए सिरे से रूसी हमले का सामना करना पड़ रहा है, वहीं मैन पावर और गोला-बारूद की कमी का भी सामना करना पड़ रहा है क्योंकि अमेरिकी संसद में यूक्रेन को सहायता का प्रस्ताव अटका पड़ा है।

दूसरी तरफ अपने बयान में ज़ालुज़नी ने कहा कि राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की के साथ उनकी "महत्वपूर्ण और गंभीर बातचीत" हुई थी और युद्ध के मैदान में रणनीति बदलने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने एक बयान में कहा, “2022 के कार्य 2024 के कार्यों से भिन्न हैं। इसलिए, सभी को ना सिर्फ बदलना होगा बल्कि नई वास्तविकताओं को भी अपनाना होगा और साथ मिलकर जंग जीतना भी होगा।"

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें