ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशभीषण होगी जंग! यूक्रेन के पास अब होगा अमेरिका का सबसे महंगा मिसाइल सिस्टम, कितनी ताकत

भीषण होगी जंग! यूक्रेन के पास अब होगा अमेरिका का सबसे महंगा मिसाइल सिस्टम, कितनी ताकत

रूस यूक्रेन के बीच चल रहे जंग में अमेरिका यूक्रेन को एक और मदद देने को तैयार हो गया है। राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन में एक और पैट्रियट मिसाइल सिस्टम की तैनाती को मंजूरी दे दी है।

भीषण होगी जंग! यूक्रेन के पास अब होगा अमेरिका का सबसे महंगा मिसाइल सिस्टम, कितनी ताकत
Jagritiएएनआई वर्ल्ड,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 10:38 AM
ऐप पर पढ़ें

अमेरिका यूक्रेन में जल्द ही एक और पैट्रियट मिसाइल सिस्टम तैनात करेगा। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में सैन्य अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रूस के साथ चल रहे संघर्ष के बीच यूक्रेन में एक और पैट्रियट मिसाइल सिस्टम की तैनाती को मंजूरी दे दी है। इससे पहले अमेरिका यूक्रेन में एक पैट्रियट सिस्टम को तैनात कर चुका है। अधिकारियों ने बताया कि बाइडेन का यह फैसला कई उच्च-स्तरीय बैठकों और यूक्रेन की जरूरतों को पूरा करने के तरीके पर विचार के बाद आया। यह फैसला तब आया है जब यूक्रेन अपने शहरों पर रूसी हमलों से बचने के लिए संघर्ष कर रहा है। अधिकारियों के अनुसार, इस प्रणाली को अगले कुछ दिनों में यूक्रेन की फ्रंट लाइन में तैनात किया जा सकता है।

NYT की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के सबसे बेहतरीन एयर डिफेंस हथियारों में से एक माने जाने वाले पैट्रियट में एक शक्तिशाली रडार सिस्टम और मोबाइल लॉन्चर शामिल हैं, जो आने वाले प्रोजेक्टाइल पर मिसाइल दागते हैं। यह अमेरिकी आर्सेनल में सबसे दुर्लभ हथियार प्रणालियों में से एक है। पेंटागन के अधिकारियों ने यह बताने से इनकार कर दिया कि उनके पास कितने पैट्रियट सिस्टम हैं, लेकिन एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने कहा कि सेना ने अमेरिका और दुनिया भर में इनमें से अब तक सिर्फ 14 को ही तैनात किया है। NYT ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि पैट्रियट अब तक का सबसे महंगा सोलो हथियार सिस्टम है जिसे अमेरिका ने यूक्रेन को भेजा है। इसकी कुल लागत लगभग 1.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। इसमें सिस्टम के लिए 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर और मिसाइलों के लिए 690 मिलियन अमेरिकी डॉलर शामिल है। 

दूसरे देशों से भी पैट्रियट सिस्टम की तैनाती की अपील

अमेरिका के अलावा कुछ और देशों के पास भी पैट्रिएट सिस्टम है और उनमें से दो देशों ने यूक्रेन को कुछ भेजे भी हैं, लेकिन अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि यूरोप यूक्रेन को और मदद भी भेजेगा। अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन और पेंटागन के दूसरे वरिष्ठ अधिकारियों ने यूरोपीय सहयोगियों से यूक्रेन को यह सिस्टम देने की अपील की है। बाइडेन प्रशासन के अधिकारियों को उम्मीद है कि एक और अमेरिकी पैट्रियट सिस्टम की तैनाती दूसरे देशों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करेगी। दो अन्य देशों ने यूक्रेन की अधिक पैट्रियट्स की अपील पर प्रतिक्रिया दी है। जर्मनी ने अब तक एक पैट्रियट सिस्टम तैनात किया है। चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ ने कहा है कि जून के अंत तक दूसरा भी तैनात किया जाएगा। नीदरलैंड ने भी यूक्रेन में एक डच-अमेरिकी बैटरी तैनात की है और दूसरा भेजने के लिए बातचीत चल रही है।

यूक्रेन का पावर इंफ्रास्ट्रक्चर बुरी तरह प्रभावित

पिछले महीने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन की कीव यात्रा के दौरान, यूक्रेनी विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि यूक्रेन को फौरन "सात सिस्टम की जरूरत है, ताकि हम खार्किव शहर और आस पास के पूरे क्षेत्र की रक्षा कर सकें।" सैन्य विश्लेषकों ने कहा कि खार्किव के अलावा, यूक्रेन को दक्षिण में ओडेसा की सुरक्षा के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए, साथ ही देश के पावर ग्रिड पर भी तुरंत ध्यान देने की जरूरत है। हाल के महीनों में, यूक्रेन के बिजली संयंत्रों और सबस्टेशनों पर रूसी मिसाइल और ड्रोन हमलों ने देश के पावर इंफ्रास्ट्रक्चर को बुरी तरह प्रभावित किया है।