DA Image
3 दिसंबर, 2020|7:01|IST

अगली स्टोरी

आतंक के खिलाफ पाक के कदम से तय होगी भारत के साथ वार्ता: अमेरिका

donald trump floats kashmir mediation offer  second time in 24 hours

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कश्मीर मामले पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के मध्यस्थता करने को इच्छुक होने की बात दोहराते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच शांति वार्ता इस्लामाबाद के आतंकवादी संगठनों के खिलाफ उठाए ''निरंतर और स्थायी" कार्रवाइयों पर निर्भर करती है। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन के जनवरी 2016 में पठानकोट के वायुसेना अड्डे पर हमला करने के बाद से ही भारत ने इस्लामाबाद से हर तरह का संवाद रोक रखा है।

भारत को कहना है कि आतंकवाद और वार्ता एकसाथ नहीं चल सकते। भारत सरकार के पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान खत्म करने के बाद दोनों देशों के बीच संबंध और खराब हो गए। भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान ने कूटनीतिक संबंध का स्तर गिरा दिया और भारत के उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया।

विदेश मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि अमेरिका उस माहौल को बढ़ावा देता रहेगा जो भारत-पाकिस्तान के बीच रचनात्मक वार्ता के लिए राह बनाए। नाम उजागर ना करने की शर्त पर अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने भारत और पाकिस्तान के बीच कायम तनाव को लेकर चिंता जाहिर की है और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और नरेन्द्र मोदी से सीधे इस बारे में बात भी की है। अधिकारी ने कहा, ''अगर दोनों देश कहते हैं तो वह (ट्रम्प) निश्चित तौर पर मध्यस्थ की भूमिका निभाने को तैयार हैं। बाहरी मध्यस्थता नहीं चाहना यह भारत का रुख है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के कार्यालय के इस कथन में भारत का रुख बिल्कुल स्पष्ट है कि वह मध्यस्थ नहीं चाहते। भारत ने जम्मू-कश्मीर को अपना अभिन्न हिस्सा बताते हुए अमेरिका या संयुक्त राष्ट्र सहित किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की बात को खारिज किया है। उसका कहना है कि यह पाकिस्तान और उसका द्विपक्षीय मामला है। अमेरिका के भारत के ''आतंकवाद और वार्ता एकसाथ ना होने के रुख का समर्थन करने के सवाल पर अधिकारी ने कहा कि यह आवश्यक है कि पाकिस्तान ''आतंकवाद के खिलाफ निरंतर और स्थायी कदम उठाए। अधिकारी ने कहा कि वार्ता संभव है और अमेरिका परमाणु शक्ति से सम्पन्न दोनों देशों को इसके लिए प्रोत्साहित करेगा क्योंकि उनकी सीमाएं जुड़ी हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:america says that india pakistan talk depends on pakistan step on terrorism