ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशचीन के हालात देख अमेरिका बोला, शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सबका अधिकार, गलत कर रहा ड्रैगन

चीन के हालात देख अमेरिका बोला, शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सबका अधिकार, गलत कर रहा ड्रैगन

अमेरिका का यह बयान चीन में उसकी 'शून्य कोविड नीति' के खिलाफ होते प्रदर्शनों के बीच आया है। व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने कहा, 'हम अमेरिका में शून्य कोविड नीति का पालन नहीं करते।

चीन के हालात देख अमेरिका बोला, शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सबका अधिकार, गलत कर रहा ड्रैगन
Ankit Ojhaभाषा,वॉशिंगटनTue, 29 Nov 2022 12:24 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

चीन में इन दिनों सरकार की जीरो कोविड नीति के विरोध में जनता सड़कों पर है। विरोध प्रदर्शनों की तेजी को देखते हुए जिनपिंग सरकार सकते में आ गई है और लोगों को जेल में डालना शुरू कर दिया है। इसी बीच अमेरिका ने भी चीन पर हमला बोलने का मौका नहीं गंवाया।  व्हाइट हाउस ने सोमवार को कहा कि चीन की 'शून्य कोविड नीति' के काम करने की संभावना नहीं है और कहा कि दुनिया भर के सभी लोगों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का अधिकार है।
     
अमेरिका का यह बयान चीन में उसकी 'शून्य कोविड नीति' के खिलाफ होते प्रदर्शनों के बीच आया है।  व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रवक्ता ने से कहा, 'हम अमेरिका में शून्य कोविड नीति का पालन नहीं कर रहे हैं। हम समझते हैं कि चीन के लिए शून्य कोविड रणनीति के जरिए इस वायरस को नियंत्रित करना पाना बहुत मुश्किल होगा।'

चीन के कई हिस्सों में 'शून्य कोविड नीति' के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। इस नीति के तहत चीन एक बार किसी इमारत या इलाके में कोरोना वायरस का मामला मिलने के बाद, उसे पूरी तरह से सील कर देता है जिस वजह से लोगों को असुविधा होती है।
    
 प्रवक्ता ने बताया, 'हम उन चीज़ों पर ध्यान केंद्रित करते हैं जो काम कर सकती हैं और इसके लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य संसाधनों का इस्तेमाल करते हैं। जैसे टीकाकरण और जांच की दर को बढ़ाना एवं इलाज आसानी से उपलब्ध कराना।' उन्होंने कहा, 'हम लंबे वक्त से कह रहे हैं कि सब को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने का अधिकार है। भले ही वे यहां अमेरिका में हों या दुनिया में कहीं भी हों। इसमें चीन भी शामिल है।'