ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशइजरायल में 4 महीने बाद फिर बजे खतरे के साइरन, हमास ने कर दिया मिसाइल अटैक

इजरायल में 4 महीने बाद फिर बजे खतरे के साइरन, हमास ने कर दिया मिसाइल अटैक

इजरायल में चार महीने बाद एक बार फिर साइरन सुने गए। हमास ने एक बार फिर इजरायल पर रॉकेट दागे। हालांकि इन्हें रास्ते में ही खत्म कर दिया गया।

इजरायल में 4 महीने बाद फिर बजे खतरे के साइरन, हमास ने कर दिया मिसाइल अटैक
mideast-israel-palestinians-0 jpg
Ankit Ojhaएजेंसियां,तेल अवीवMon, 27 May 2024 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

हमास ने दावा किया है कि उसने रविवार को एक बार फिर इजरायल पर मिसाइल अटैक किया है। चार महीने बाद पहली बार राजधानी तेल अवीव में साइरन भी सुने गए। बता दें कि गाजा में इजरायली अटैक से बौखलाए हमास ने एक बार फिर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की है। इजरायली सेना ने भी इस बात की पुष्टि की है। आईडीएफ का कहना है कि रविवार की रात कम से कम 8 रॉकेट राफा की तरफ से आते हुए देखे गए। इजरायली सेना का कहना है कि इन रॉकेट्स को मार गिराया गगया। इजरायली इमरजेंसी सर्विसेज का कहना है कि किसी तरह के नुकसान की जानकारी नहीं मिली है। 

हमास अल कासम ब्रिगेड्स ने अपने टेलिग्राम चैनल पर कहा है कि उसने गाजा में आम लोगों की मौत का बदला लेने के लिए रॉकेट लॉन्च किए। हमास से जुड़े अल-अक्सा टीवी चैनल ने भी कहा है कि गाजा पट्टी से रॉकेट लॉन्च किए गए। बता दें कि तेल अवीव से राफा की दूरी लगभग 100 किलोमीटर की है। बता दें कि राफा में इस समय इजराय भी हमले तेज कर रहा है। उसका कहना है कि वह हमास को जड़ से खत्म करने के लिए हमले कर रहा है। हालांकि यहां बड़ी संख्या में आम लोग भी मारे जा रहे हैं। यूएन ने भी कहा है कि राफा में तत्काल प्रभाव से हमले रोक दिए जाएं। 

रविवार को इजरायली हमले में कम से कम पांच फिलिस्तीनियों की मौत हो गई। इजरायली टैंक इस समय राफा के आसपास तैनात हैं। हालांकि अभी टैंक राफा में नहीं घुसे हैं। इजरायल के पब्लिक सिक्योरिटी मिनिस्टर का कहना है कि राफा में हमला और तेज कर देना चाहिए. बता दें कि अब तक इजरायली हमले में कम से कम 36 हजार फिलिस्तीनियों की मौत हो चुकी है। 

बता दें कि सात अक्टूबर को हमास ने इजरायल पर हमला करके लगभग 1200 लोगों की जान ले ली थी और 250 को बंधक बना लिया था। इसके बाद से ही इजरायल गाजा पट्टी पर हमले कर रहा है। कई देशों ने सीजफायर के लिए मध्यस्थता की कोशिश की बावजूद इसके युद्धविराम पर कोई सहमति नहीं बन पाई है। इजरायल का कहना है कि उसके सभी बंधकों को रिहा किया जाए। वहीं हमास की शर्त है कि पहले इजरायल अपने हमले रोक दे।