ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेश2 मासूमों की मौत के बाद पसीजा इजरायल का दिल, गाजा के अस्पताल से बच्चों को निकालने में मदद को तैयार

2 मासूमों की मौत के बाद पसीजा इजरायल का दिल, गाजा के अस्पताल से बच्चों को निकालने में मदद को तैयार

इसके अलावा और भी दर्जनों बच्चे की जान खतरे में है। इजरायल के मुख्य सैन्य प्रवक्ता रियर एडमिरल डैनियल हगारी ने कहा कि अल शिफा के कर्मचारियों के अनुरोध पर अस्पताल से शिशुओं को निकालने में मदद करेगी।

2 मासूमों की मौत के बाद पसीजा इजरायल का दिल, गाजा के अस्पताल से बच्चों को निकालने में मदद को तैयार
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,तेल अवीव।Sun, 12 Nov 2023 01:05 PM
ऐप पर पढ़ें

हमास के खिलाफ जारी युद्ध के बीच इजरायल की सेना ने थोड़ी नरमी दिखाई है। उसने कहा कि वह रविवार को गाजा के सबसे बड़े अस्पताल से बच्चों को निकालने के लिए तैयार है। फिलीस्तीन ने दावा किया था कि इस इलाके में हमले तेज होने से ईंधन खत् हो गई है। इसके कारण अस्पताल में दो नवजात शिशुओं की मौत हो गई। इसके अलावा और भी दर्जनों बच्चे की जान खतरे में है। इजरायल के मुख्य सैन्य प्रवक्ता रियर एडमिरल डैनियल हगारी ने कहा कि इजरायली सेना अल शिफा के कर्मचारियों के अनुरोध पर अस्पताल से शिशुओं को निकालने में मदद करेगी।

इजरायल के सैनिकों ने गाजा के सबसे बड़े अस्पताल को घेराबंदी कर दी है और चिकित्सकों ने कहा है कि वहां के आखिरी जनरेटर का ईंधन खत्म होने के बाद से समय से पहले जन्मे एक शिशु सहित पांच मरीजों की मौत हो गई है। इजरायल ने शिफा अस्पताल को हमास के मुख्य कमान चौकी के रूप में चित्रित करते हुए कहा है कि आतंकवादी वहां नागरिकों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे और इसके नीचे बंकर बनाये हैं। हालांकि इस दावे को हमास के साथ ही शिफा प्रशासन ने खंडन किया है। हाल के दिनों में, उत्तरी गाजा के युद्ध क्षेत्र में शिफा और अन्य अस्पतालों के पास लड़ाई तेज हो गई है और जरूरी चीजों की आपूर्ति ख़त्म हो गई है।

शिफा के निदेशक मोहम्मद अबू सेल्मिया ने गोलियों और विस्फोटों की आवाज के बीच फोन पर बात करते हुए कहा, “बिजली नहीं है। चिकित्सा उपकरण बंद हो गए हैं। मरीजों, विशेष रूप से गहन देखभाल में रहने वाले लोगों की मृत्यु होने लगी है।’’ अबू सेल्मिया ने कहा कि इजरायली सैनिक ‘अस्पताल के बाहर या अंदर किसी को भी गोली मार रहे हैं’ और परिसर में इमारतों के बीच आवाजाही रोक दी है। इस दावे की स्वतंत्र तरीके से पुष्टि नहीं की जा सकी कि केवल इजरायली सैनिकों की ओर से ही गोलीबारी की जा रही है।

शिफा प्रांगण में सैनिकों द्वारा गोलीबारी की जानकारी के बारे में पूछे जाने पर इजरायली सेना केवल यही कहेगी कि सैनिक आसपास के क्षेत्र में हमास से लड़ रहे हैं और नागरिकों को क्षति रोकने के लिए हरसंभव उपाय करेंगे। उसने कहा कि गाजा में लड़ाई के दौरान सैनिकों को भूमिगत सुविधाओं, स्कूलों, मस्जिदों और क्लीनिक में सैकड़ों हमास लड़ाकों का सामना करना पड़ा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता मेधत अब्बास ने कहा कि जनरेटर बंद होने से पांच मरीजों की मौत हो गई, जिनमें समय से पहले जन्मा एक शिशु भी शामिल है।

नागरिकों को निकलने में सुविधा देने के लिए इजरायल हर दिन दक्षिण की ओर जाने वाली मुख्य सड़क को कई घंटों के लिए खोल रहा है। शनिवार को सेना ने पहली बार निकासी में सुविधा के के लिए युद्ध में एक संक्षिप्त विराम की घोषणा की।

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि नागरिकों को होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी हमास की है। उन्होंने लंबे समय से लगाये जा रहे इन आरोपों को दोहराया कि आतंकवादी समूह गाजा में नागरिकों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल करता है। उन्होंने कहा कि इजरायल ने नागरिकों से युद्ध क्षेत्र छोड़ने का आग्रह किया है, ‘‘हमास उन्हें जाने से रोकने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहा है।’’