After the IAF attack on Jaish terrorists China appeals restraint to India and Pakistan - जैश पर IAF हमले के बाद चीन ने की भारत-पाक से संयम बरतने की अपील DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैश पर IAF हमले के बाद चीन ने की भारत-पाक से संयम बरतने की अपील

Chinese President Xi Jinping (File Pic)

भारतीय वायुसेना की तरफ से मंगलवार तड़के नियंत्रण रेखा पार और पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों पर हमले के बाद चीन ने भारत और पाकिस्तान से शांति की अपील की है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा- “हम यह उम्मीद करते हैं कि भारत और पाकिस्तान दोनों संयम रखेंगे और वह कदम उठाएंगे जिनसे क्षेत्र में शांति बहाल करने में मदद मिले और आपसी संबंध बेहतर हो।”

विदेश सचिव ने विदेशी राजनयिकों को दी जानकारी

इससे पहले, नियंत्रण पार जाकर भारतीय वायुसेना की तरफ से की गई कार्रवाई को लेकर विदेश सचिव विजय गोखले ने अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, रूस, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया, तुर्की और छह एशियाई देशों को इस बारे में जानकारी दी।

ये भी पढ़ें: IAF स्ट्राइक पर लता मंगेशकर ने सेना के सम्मान में कहे ये शब्द

गौरतलब है कि मंगलवा को भारत ने कहा कि पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद देश के अन्य हिस्सों में भी पुलवामा जैसे आत्मघाती आतंकी हमले करने की तैयारी में था और इसलिए खुफिया जानकारी के आधार पर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बालाकोट स्थित उसके प्रशिक्षण शिविर पर मंगलवार तड़के “आत्मरक्षा के लिए असैन्य” कार्रवाई कर बड़ी संख्या में आतंकवादियों को मार गिराया गया। 

केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा समिति की यहां प्रधानमंत्री आवास पर मंगलवार सुबह हुई बैठक के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने एक लिखित बयान पढ़ते हुये मीडिया से कहा “पुख्ता जानकारी मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद देश के विभिन्न हिस्सों में आत्मघाती आतंकवादी हमलों का प्रयास कर रहा था और इसके लिए फिदाइन जिहादियों को प्रशिक्षित कर रहा था। आसन्न खतरे को देखते हुये आत्मरक्षार्थ हमला जरूरी हो गया था।”

ये भी पढ़ें: वायुसेना के हमले पर बोले उमर अब्दुल्ला- ये नया खेल है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the IAF attack on Jaish terrorists China appeals restraint to India and Pakistan