DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विदेश  ›  जबरन लोगों से चंदा वसूली और लड़ाकों की भर्ती...अफगानिस्तान में तालिबान ऐसे बढ़ा रहा अपनी ताकत
विदेश

जबरन लोगों से चंदा वसूली और लड़ाकों की भर्ती...अफगानिस्तान में तालिबान ऐसे बढ़ा रहा अपनी ताकत

एएनआई,काबुलPublished By: Shankar Pandit
Thu, 22 Jul 2021 08:58 AM
जबरन लोगों से चंदा वसूली और लड़ाकों की भर्ती...अफगानिस्तान में तालिबान ऐसे बढ़ा रहा अपनी ताकत

अफगानिस्तान में अपना साम्राज्य बढ़ाने की कोशिश में जुटा तालिबान अब जबरन लोगों से चंदा मांगने पर मजबूर हो गया है। अधिकारियों की मानें तो बल्ख प्रांत में तालिबान बलपूर्वक फंड एकत्र कर रहा है। इतना ही नहीं, अपनी ताकत बढ़ाने के लिए स्थानीय लोगों की भर्ती भी कर रहा है। उत्तरी प्रांत में तैनात अफगान स्थानीय अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि तालिबान बल्ख प्रांत में अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों में रहने वाले स्थानीय लोगों को उनकी आय का हिस्सा देने के लिए मजबूर कर रहा है।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा कि तालिबान भी स्थानीय लोगों में से भर्ती करने की कोशिश कर रहा है। कलदार जिले के कार्यवाहक जिला गवर्नर मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि जिला भवन परिसर और पुलिस मुख्यालय के अंदर केवल 20 तालिबान लड़ाके हैं, बाकी ने जकात (दान) लेने के लिए गांवों के अंदर पोजिशन ले ली है।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि जिले में तालिबान लड़ाकों की संख्या केवल 200 लड़ाकों की है, लेकिन वे स्थानीय लोगों में से और लड़ाकों की भर्ती करना चाहते हैं। वहीं, बल्ख प्रांत में शॉर्टेपा जिले के लिए जिला राज्यपाल मोहम्मद हाशेम मंसूरी ने कहा कि तालिबान ने दुकानों, बाजारों और स्थानीय लोगों पर टैक्स लगाया है- जो कि भुगतान करने की उनकी क्षमता से परे है। उन्होंने कहा कि तालिबान उन लोगों को भी परेशान कर रहे हैं, जो बड़ी राशि का भुगतान करने की क्षमता नहीं रखते हैं।

बताया जा रहा है कि तालिबान द्वारा बढ़ी हुई हिंसा के बाद व्यावसायिक गतिविधि भी प्रभावित हुई है, खासकर उन क्षेत्रों में जहां सूखे बंदरगाह हैं जैसे कि हेरातन में। हेरातन के निवासी सिफतुल्लाह ने कहा कि लोगों को गंभीर चिंता है और व्यापारी व्यवसायों के कारण बहुत भयभीत हैं। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार सुरक्षा अधिकारियों ने हालांकि लोगों को आश्वासन दिया है कि अफगान सुरक्षा बल लोगों के जीवन और संपत्ति की रक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

अफगान सेना की 209 शाहीन आर्मी कोर के कमांडर खानुल्ला शुजा ने कहा कि हमारी सेना का मनोबल बहुत ऊंचा है। वे पूरी तरह से तैयार हैं और शहर की रक्षा करने की ताकत रखते हैं। जल्द ही हम अपने आक्रामक अभियान शुरू करेंगे। बता दें कि इस महीने की शुरुआत में तालिबान ने कालदार जिले के केंद्र पर कब्जा करने में कामयाबी हासिल की थी। बाद में अफगान सुरक्षा बलों को जिले से पांच किलोमीटर दूर तैनात किया गया था ताकि तालिबान द्वारा उत्तर में एक प्रमुख वित्तीय शुष्क बंदरगाह, हेरातन सीमा पार करने में संभावित कदम को रोका जा सके। बल्ख प्रांत में 14 जिले हैं, जिनमें से नौ तालिबान के नियंत्रण में हैं।

संबंधित खबरें