DA Image
11 अप्रैल, 2021|3:12|IST

अगली स्टोरी

नासा के वैज्ञानिक भी वर्क फ्रॉम होम पर, एक बेड रूम वाले फ्लैट से ऑपरेट हो रहा मंगल ग्रह पर भेजा गया रोवर

a nasa professor iscontrolling the mars perseverance rover from a one-bedroom flat

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की ओर से हाल ही में मंगल ग्रह पर भेजा गया रोवर अपना काम शुरू कर दिया है। इस बीच रविवार को एक रिपोर्ट ने सबको चौंका दिया। जिसमें यह बताया गया कि मंगल ग्रह पर भेजे गए रोवर को एक बेड रूम वाले फ्लैट से ऑपरेट किया जा रहा है।

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस महामारी की वजह से नासा के वैज्ञानिक भी वर्क फ्रॉम होम काम कर रहे हैं। ऐसे में मंगल ग्रह पर भेजे गए रोवर को भारतीय मूल के ब्रिटिश भूवितज्ञानी संजीव गुप्ता अपने एक बेडरूम वाले फ्लैट से उसको नियंत्रित कर रहे हैं। गुप्ता साउथ लंदन में एक सैलून के उपर एक बेड रूम के फ्लैट में रहते हैं और वहीं से वो रोवर को ऑपरेट कर रहे हैं।

मिशन कंट्रोल दक्षिणी कैलिफोर्निया में नासा की जेट प्रोपल्सन प्रयोगशाला (JPL) पर हैं, जहां पर रोवर को तैयार किया गया था। अखबार से बात करते हुए गुप्ता ने कहा कि मुझे कैलिफोर्निया में जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी में होना चाहिए, जिसका लाउंज फ्लैट की तुलना में तीन गुना बड़ा है और जो कि सैकड़ों वैज्ञानिकों और इंजीनियरों से भरा हुआ है। 

फिलहाल रोवर को कंट्रोल कर रहे गुप्ता लंदन के इंपीरियल कॉलेज के भूविज्ञान विशेषज्ञ लंबे समय से नासा के मंगल मिशन कार्यक्रम का हिस्सा रहे हैं। डेली मेर की रिपोर्ट के अनुसार नासा की टीम इस समय चौबिसों घंटे काम कर रही है। गुप्ता के फ्लैट में पांच कंप्यूटर और दो बड़ी स्क्रीन लगी हुई हैं जिस पर वो रोवर की गतिविधियों को देखते रहते हैं। बता दें कि मंगल ग्रह उतरने के बाद रोवर ने लाल ग्रह की कुछ तस्वीरें भी भेजी हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A Nasa professor is controlling the Mars Perseverance rover from a one-bedroom flat