ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशलंदन में तनाव बढ़ा रही जंग, 30 हजार फिलिस्तीन समर्थक उतरे तो इजरायल के हिमायती भी सड़कों पर

लंदन में तनाव बढ़ा रही जंग, 30 हजार फिलिस्तीन समर्थक उतरे तो इजरायल के हिमायती भी सड़कों पर

इजरायल और हमास के बीच चल रही खूनी जंग का असर दुनिया के अन्य देशों में भी देखने को मिल रहा है। लंदन की सड़कों पर 30 हजार फिलिस्तीनी समर्थक सड़क पर जमा हो गए। उन्हें रोकने इजरायल के हिमायती भी पहुंचे।

लंदन में तनाव बढ़ा रही जंग, 30 हजार फिलिस्तीन समर्थक उतरे तो इजरायल के हिमायती भी सड़कों पर
Gaurav Kalaरॉयटर्स,लंदनMon, 13 Nov 2023 07:50 AM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल और हमास के बीच चल रही खूनी जंग का असर दुनिया के अन्य देशों में भी देखने को मिल रहा है। इजरायली सैनिकों के गाजा पट्टी में कत्लेआम के विरोध में लंदन की सड़कों पर फिलिस्तीनियों का समर्थन करते हुए हजारों लोगों ने मार्च निकाला। तीस हजार से अधिक फिलिस्तीनी समर्थकों को सड़क पर मार्च करते देख इजरायल के हिमायती भी सड़क पर आ धमके। बड़ी संख्या में लोगों ने मार्च का विरोध किया। जिसके बाद पुलिस को बीच-बचाव के लिए आना पड़ा। रैली को रोकने और हाथापाई के जुल्म में पुलिस ने करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया है।

मिडिल लंदन में शनिवार की शाम चला यह विरोध प्रदर्शन "फिलिस्तीन के लिए राष्ट्रीय मार्च" का एक हिस्सा था। बड़ी तादात में लोग इजरायल और हमास के बीच युद्धविराम की मांग कर रहे थे। यह रैली फ़िलिस्तीनियों के साथ एकजुटता व्यक्त करने और गाजा पट्टी पर इज़रायल की बमबारी से हो रहे कत्लेआम के विरोध में निकाली गई थी। बता दें कि इजरायल और हमास आतंकियों के बीच चल रहे युद्ध में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस लड़ाई में कम से कम 12 हजार फिलिस्तीनी मारे जा चुके हैं जबकि, इजरायल खेमे को कम से कम 1500 अपने लोगों की जान से हाथ धोना पड़ा है। गाजा पट्टी के लोगों ने सबसे ज्यादा नुकसान झेला है। यहां शहर श्मशान में तब्दील हो चुके हैं। बिना बिजली, पानी और भोजन के लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भाग रहे हैं।

पुलिस के अनुसार, संसद भवन के नजदीक और वेस्टमिंस्टर में सेनोटाफ युद्ध स्मारक के पास रैली पहुंच गई। इस दौरान इजरायल के समर्थकों के साथ उनकी झड़प हो गई। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए लाठीजार्ज भी किया। जवाब में कुछ प्रदर्शनकारियों ने अधिकारियों पर बोतलें फेंकीं। सड़कों पर बढ़ते तनाव को देखते हुए पुलिस को कड़ा ऐक्शन लेना पड़ा और करीब 100 लोगों को गिरफ्तार करना पड़ा।

लंदन के मेयर सादिक खान और स्कॉटलैंड के मंत्री हमजा यूसुफ ने आंतरिक मंत्री सुएला ब्रेवरमैन की आलोचना की है। उन्होंने पुलिस पर "फिलिस्तीनी समर्थकों" का पक्ष लेने का आरोप लगाया। उनका आरोप था कि उनके कहने पर ही पुलिस ने जानबूझकर इजरायली समर्थकों के साथ मारपीट की और उन्हें गिरफ्तार किया।