अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NRI संगठन की मांग: बांग्लादेश के हिन्दू प्रवासियों को दें भारत की नागरिकता

प्रतीकात्मक तस्वीर (साभारः गूगल)

अमेरिका में भारतीय-अमेरिकियों के संगठनों के एक समूह ने असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) से बाहर रखे गये बांग्लादेश के हिन्दू प्रवासियों को भारतीय नागरिकता देने की मांग को लेकर एक अभियान शुरू किया है।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार सिंहवाहिनी अमेरिका, ग्लोबल हिन्दू हैरिटेज फाउंडेशन (जीएचएचएफ) और नव बंगा जैसे संगठनों के बैनर तले ये समूह भारत के पड़ोसी राष्ट्र बांग्लादेश से भारत गए अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता दिलाने के वास्ते नागरिकता विधेयक 2016 के लिए समर्थन जुटा रहे हैं। उक्त विधेयक नागरिकता अधिनियम 1955 में संशोधन का प्रावधान करता है।

भारत में पढ़े ओम प्रकाश होंगे नेपाल के नए प्रधान न्यायाधीश

समूह के सदस्यों ने हाल ही में शिकागो में संपन्न विश्व हिन्दू कांग्रेस के दौरान भारतीय नेताओं से मुलाकात की थी। समूह द्वारा मीडिया के लिए जारी बयान में बताया गया है कि अनुमान के मुताबिक, करीब 14 से 25 लाख हिन्दुओं की भारतीय नागरिकता छीने जाने की स्थिति बन गयी है।

इसमें कहा गया है, ''बांग्लादेश में उत्पीड़न का सामना करने के कारण वहां रहने वाले हिन्दू भाई बहनों के पूर्वज भारत आ गये थे। उत्पीड़न के बावजूद उन्होंने अपना धर्म नहीं छोड़ा था। बयान में कहा गया है कि भारत के संसाधन इसके नागरिकों को मिलें यह सुनिश्चित करने के लिए हर राज्य में एनआरसी की जरूरत है लेकिन यह भी उतना ही महत्वपूर्ण है कि भारत बांग्लादेश से आए गरीब हिन्दुओं की सुरक्षा करे।

विश्व हिंदू सम्मेलन में भारतीय-अमेरिकी सांसद बोले- सहिष्णुता, प्यार और विविधता हिंदुत्व के पहलू हैं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nri organisation demands that india should give citizenship to hindu immigrants of bangladesh