ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेश प्रवासी भारतीयकांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा', कश्मीर से कन्याकुमारी तक राहुल गांधी जाएंगे 'पैदल'

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा', कश्मीर से कन्याकुमारी तक राहुल गांधी जाएंगे 'पैदल'

यात्रा के जरिए पार्टी ज्यादातर पद यात्रा करेगी और हाईवे पर यात्रा वाहन के जरिए होगी। यात्रा के दौरान ज्यादा समय तक राहुल गांधी साथ रहेंगे। पार्टी बड़ी जनसभाएं भी कर सकती है।

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा', कश्मीर से कन्याकुमारी तक राहुल गांधी जाएंगे 'पैदल'
Gauravहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीWed, 17 Aug 2022 06:55 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

खुद के अस्तित्व को बचाने की संघर्ष में जुटी कांग्रेस पार्टी सात सितंबर से भारत जोड़ो यात्रा शुरु कर रही है। कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यह यात्रा करीब पांच माह में पूरी होगी। यात्रा के दौरान पार्टी चुनावी राज्यों पर ज्यादा फोकस करेगी। इस यात्रा को पार्टी वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए देशव्यापी जनसपंर्क अभियान के तौर पर देख रही है।

कन्याकुमारी से कश्मीर तक पहुंचेगी
दरअसल, भारत जोड़ो यात्रा करीब 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से होती हुई कन्याकुमारी से कश्मीर पहुंचेगी। यात्रा के जरिए पार्टी ज्यादातर पद यात्रा करेगी और हाईवे पर यात्रा वाहन के जरिए होगी। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक पद यात्रा के दौरान ज्यादा समय तक राहुल गांधी साथ रहेंगे। इस बीच पूरी यात्रा में करीब दो दर्जन जगहों पर पार्टी बड़ी जनसभाएं भी कर सकती है।

नेतृत्व और लोगों के बीच सीधा संपर्क
कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा को एक बड़े जनसपंर्क अभियान के तौर पर देख रही है। पार्टी ने पिछले कई वर्षों में कोई बड़ी यात्रा नहीं की है। ऐसे में भारत जोड़ो यात्रा के जरिए पार्टी नेतृत्व और लोगों के बीच सीधा संपर्क बनेगा। पार्टी के वरिष्ठ नेता के मुताबिक, यात्रा के दौरान राहुल गांधी प्रतिदिन करीब बीस से 25 किलोमीटर पद यात्रा करेंगे। वह किसी होटल के बजाए टेंट में रुकेंगे।

मकसद लोगों के मुद्दों को समझना
इसके साथ पार्टी हर रात्रि विश्राम के दौरान स्थानीय लोगों के साथ चर्चा होगी। इस चर्चा का मकसद भारत जोड़ों के साथ लोगों के मुद्दों को समझना है। ताकि चुनाव घोषणा पत्र के वक्त इन मुद्दों को शामिल किया जा सके। इसके साथ पार्टी यात्रा के दौरान अपनी छवि सुधारने, संगठन को मजबूत करने और पार्टी नेतृत्व का लोगो से सीधा जुड़ाव स्थापित करना है।

संगठन चुनाव अंतिम दौर में
कांग्रेस की यह यात्रा ऐसे वक्त हो रही है जब पार्टी में संगठन चुनाव अंतिम दौर में हैं। यात्रा की शुरुआत होने तक पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर तस्वीर साफ हो जाएगी। पार्टी नेता और कार्यकर्ता राहुल गांधी को एक बार फिर अध्यक्ष पद संभालने की मांग कर रहे हैं। ऐसे में पार्टी अध्यक्ष के तौर पर भारत जोड़ो यात्रा राहुल गांधी का पहला देशव्यापी जनसंपर्क अभियान होगा।

'देश को भारत जोड़ो यात्रा की बेहद जरूरत'
तिरुवनंतपुरम में स्थित पार्टी मुख्यालय इंदिरा भवन पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव और केरल के प्रभारी तारिक अनवर ने कहा कि हाल में उदयपुर चिंतन शिविर में निर्णय लिया गया था कि पार्टी को लोगों से जुड़ने और भाजपा तथा आरएसएस की विचारधारा का विरोध करने के लिए एक बड़ा कार्यक्रम करना चाहिए। 

अनवर ने कहा कि इसलिए हमें लगता है कि भारत जोड़ो समय की मांग है। इसकी बेहद जरूरत है क्योंकि आजकल विघटनकारी शक्तियां बहुत सक्रिय हैं और केंद्र सरकार द्वारा इन शक्तियों को संरक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसलिए कांग्रेस ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक पदयात्रा निकालने का निश्चय किया है। राज्य में यात्रा के सम्बन्ध में केरल प्रदेश कांग्रेस समिति के तहत समन्वय समिति का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा कि राहुल गांधी यात्रा का नेतृत्व करेंगे।