DA Image
29 जनवरी, 2020|1:45|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौकरी दिलाने के नाम पर कर लिया था अपहरण

crime

नौकरी दिलाने के नाम पर मुंगेर के सोनू ने पटना के किराना कारोबारी दीपक कुमार का अपहरण कर लिया। अच्छी तनख्वाह दिलाने का आश्वासन देकर आठ जनवरी को दीपक को बुलाया था। इसके बाद उसका अपहरण कर 10 लाख रुपए की फिरौती मांग ली गई। जक्कनपुर पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। सोनू कुमार और राजा संग्रामपुर थाना तारापुर मुंगेर के रहनेवाले हैं और दोनों सगे भाई हैं जबकि तीसरा आरोपित आशीष कुमार रामपुर बांका का है। यह सोनू और राजा का मौसेरा भाई बताया गया है। पुलिस पकड़े गए तीनों बदमाशों का अपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

जक्कनपुर थाना क्षेत्र के न्यू करबिगहिया के रहनेवाले किराना कारोबारी दीपक कुमार की मुंगेर के सोनू से जान-पहचान हुई थी। दोनों से आपस में बातचीत हुआ करती थी। इस बीच सोनू ने उसके अपहरण की साजिश रच दी। मुंगेर की एक कंपनी में अच्छी पगार के साथ नौकरी दिलाने का झांसा देकर सोनू ने उसे बीते 8 जनवरी को करबिगहिया बुलाया था। यहां पहुंचने पर वह अपने दो साथियों के साथ किराना कारोबारी दीपक कुमार का अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद बदमाश किराना कारोबारी को कार से मुंगेर ले गए। यहां बदमाशों ने उसे असरगंज के चोरगांव स्थित एक कमरे में बंधक बना लिया। यही नहीं, उसके मोबाइल से ही फोन कर बदमाश परिजनों से 10 लाख की फिरौती मांगने लगे। 

फिरौती मांगने पर परिजनों ने इसकी जानकारी जक्कनपुर पुलिस को दी। इसपर जक्कनपुर थाना प्रभारी मुकेश कुमार वर्मा ने किराना कारोबारी के मोबाइल को सर्विलांस पर ट्रेस कराना शुरू कर दिया। इस दौरान लोकेशन मुंगेर मिला। इसपर 10 जनवरी की देर रात जक्कनपुर पुलिस मुंगेर पहुंची और अपने को परिजन बताकर फिरौती की रकम देने के लिए अपराधियों को बुलाया। बदमाशों के आने पर पुलिस ने उन्हें धर-दबोचा। साथ ही अपहृत कारोबारी को सकुशल बरामद कर पटना ले आयी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kidnapped in the name of getting a job