DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यहां खिलाड़ी गर्मी में भी जमकर बहा रहे पसीना

            -

पटना का पाटलिपुत्र स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स रोजाना सुबह और शाम खिलाड़ियों से गुलजार रहता है।  यहां खेल के प्रति युवा खिलाड़ियों का जुनून देखते ही बनता है। कबड्डी, बास्केटबॉल, एथलेटिक्स, बॉक्सिंग, रोप जंप, ताइक्वांडो समेत अन्य गेम की बारीकियां खिलाड़ी सीख रहे हैं। हर उम्र के खिलाड़ी यहां अपनी प्रतिभा को निखारने में लगे हैं। 

घर से लाने और ले जाने के साथ अभिभावक भी बच्चों का हौसला बढ़ाने के लिए मैदान में जुटते हैं। बिहार कबड्डी एसोसिएशन के सचिव कुमार विजय ने बताया कि अब कंपटीशन बढ़ गया है। पहले गिने-चुने खिलाड़ी ही मैदान पर दिखाई देते थे। उन्हीं खिलाड़ियों में से टीम चयन होता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब शहर व ग्रामीण इलाकों के छोटे बच्चे से लेकर युवा खिलाड़ियों की संख्या में इजाफा हुआ है। ऐसे में प्रतिस्पर्धा होना लाजिमी है।

कबड्डी
शुक्रवार को कबड्डी के 60 से अधिक खिलाड़ी मैदान में दौड़ लगा रहे थे। धूप भी थी, इसलिए खिलाड़ियों का पूरा बदल पसीने से लथपथ था। खिलाड़ियों के कदम नहीं रुक रहे थे। वह अपनी मंजिल की ओर लगातार बढ़ रहे हैं। रनिंग के बाद खिलाड़ी पहुंचे कबड्डी मैट पर। यहां सभी ने एक-दूसरे से दो-दो हाथ किया। प्रदीप मिश्रा, सिमरन नाज समेत सभी खिलाड़ी कोच अभिनव के नेतृत्व में अभ्यास कर रहे थे।

बॉक्सिंग
बॉक्सिंग रिंग का भी दृश्य कुछ अलग नहीं था। यहां खिलाड़ी अपने पंच से विरोधी को चित्त करने की कोशिश कर रहा था। विरोधी भी हर पंच से बचने का प्रयास कर रहा था। 25 से अधिक खिलाड़ी पाटलिपुत्र स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स बॉक्सिंग रिंग में स्टेट लेवल प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हैं। तैयारी जीतने की और मैरीकॉम-विजेंद्र जैसा कुछ काम करने की है। साक्षी लोचन और अर्पिता अंश के सपने कुछ ऐसे ही थे। सभी खिलाड़ियों को कोच अभिनव प्रशिक्षण दे रहे हैं।

बास्केटबॉल
बास्केटबॉल में शांभवी और समर प्रताप के साथ सैकड़ों बच्चों को अपना कॅरियर बनाना है। बास्केटबॉल कोर्ट पर छह साल से लेकर 18 वर्ष तक के बच्चे जंप मार कर बॉल को बास्केट में डालने की कोशिश कर रहे थे। सभी खिलाड़ी कोच अभिजीत यादव और धीरज रंजन के नेतृत्व में हर बारीकी को गौर से सीख रहे थे।

जंप रोप
जंप रोप में सचिन मिश्रा के नेतृत्व में 20 बच्चे खुद को तैयार कर रहे थे। लक्की शर्मा, रोनो सिंह समेत अन्य खिलाड़ियों का जंप और करतब देख कर हैरानी हो रही थी, लेकिन वे इसमें माहिर खिलाड़ी हैं। इन खिलाड़ियों के चेहरे पर कुछ कर गुजरने का जज्बा झलकता है।

एथलेटिक्स के खिलाड़ी भी कर रहे अभ्यास
स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स में एथलेटिक्स, ताइक्वांडो समेत अन्य खेल के खिलाड़ी भी अपनी मंजिल को तलाशने में लगे थे। सभी का सपना एक ही है। सभी अच्छा खिलाड़ी बनकर राज्य और देश का नाम रोशन करना चाहते हैं।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The players here also sweat shedding in summer