DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेबसी को ताकत बना जीत लिया सारा जहां

                                                                                         16

शरीर से अक्षम, लेकिन मन से मजबूत, जोश से भरपूर। खिले हुए चेहरे और कभी भी किसी परिस्थिति में हार नहीं मानने का जज्बा। सपना स्वर्ण पदक जीतकर नए रिकॉर्ड कायम करने का। स्विमिंग पूल में हौसलों की उड़ान भरते हुए तैराकी में कोई कसर नहीं छोड़ी। मौका था पैरालिंपिक कमिटी ऑफ बिहार एवं बिहार विकलांग खेल अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को चन्द्रगुप्त जल विहार, मोईनुलहक स्टेडियम में दिव्यांगों के लिए 16वीं बिहार राज्य स्तरीय पैरा तैराकी चैम्पियनशिप का। सभी दिव्यांग खिलाड़ी काफी उत्साहित थे एवं उनकी हौसला बुलंद थी। उन्होंने दिखा दिया कि हम किसी से कम नहीं है। 

इस चैम्पियानशिप का उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. अविनाश कुमार, बिहार सिविल सोसाईटी फोरम की सचिव मधु श्रीवास्तव, डॉ. उमाशंकर सिंह ने  मशाल जलाकर किया गया। मौके पर अंतरराष्ट्रीय पैरा तैराक मोहम्मद शम्स आलम शेख, खेल निदेशक पैरालिंपिक कमिटी ऑफ बिहार संदीप कुमार, प्रशिक्षक लक्ष्मीकांत कुमार, सुगंध नारायण प्रसाद, संतोष कुमार सिन्हा, शंशाक कुमार, किशोरी जजोडिया और शिखा कुमारी उपस्थित थी। इस राज्य स्तरीय तैराकी चैम्पियनशिप में बिहार के 21 जिलों से 100 से अधिक सब-जूनियर, जूनियर एवं सीनियर वर्ग के दिव्यांग तैराकों ने भाग लिया। सभी विजेता दिव्यांग तैराकों को राज्य निशक्तता आयुक्त शिवाजी कुमार और मुख्य अतिथियों ने मेडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस राज्य स्तरीय पैरा तैराकी चैम्पियनशिप के विजेता दिव्यांग तैराकों के बेहतर प्रदर्शन के आधर पर आगामी राष्ट्रीय पैरा-तैराकी चैम्पियनशिप के लिए बिहार टीम का चयन किया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:16th Bihar state level Para Swimming Championship begins